क्या होता है जब आप अधिक देर तक टैम्पॉन्स लगाकर रखती हैं

what happens when you start using tampons too long

Photo credit: jianshu.com

पीरियड्स के दौरान कई महिलाएं टैम्पोन्स का इस्तेमाल करती है। इसका इस्तेमाल सही तरीके से ना किया जाए तो कई समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए बेहतर है कि जब आपको टैम्पोन्स को इस्तेमाल करने का सही तरीका पता हो तभी इसे इस्तेमाल करें। अगर इनका सही तरीके से इस्तेमाल ना किया जाए तो इससे रिप्रोडक्टिव ट्रैक्ट को नुकसान पहुंचने के साथ इंफेक्शन को भी बढ़ा सकता है। कई बार महिलाएं अधिक देर तक टैम्पोन्स का इस्तेमाल करने लगती है। जिससे कई समस्याएं होने लगती हैं। इनका इस्तेमाल करते समय हाइजीन नियमों का पालन करना भी उतना ही जरुरी होता है। तो आइए आपको टैम्पोन्स का ज्यादा समय तक इस्तेमाल करने से होने वाले नुकसानों के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: प्यूबिक हेयर से जुड़े मिथक]

इंफेक्शन: पीरियड्स के दौरान लंबे समय तक टैम्पोन्स का इस्तेमाल करने से वेजाइना में बैक्टीरिया एकत्रित होने लगते हैं। जिसकी वजह से टॉक्सिक शॉक सिड्रोम होने की संभावना बढ़ जाती है। इस सिड्रोम के लक्षण तेज बुखार, लो ब्लड प्रेशर और त्वचा जल जाने सी लगती है। इन लक्षणों के दिखते ही डॉक्टर से परामर्श लें।

ड्राईनेस: जब टैम्पोन्स लंबे समय तक लगाए रखते हैं तो वेजाइना के आस-पास के टिशू शुष्क हो जाते हैं जिसकी वजह से असहज महसूस होने लगता है। अगर टैम्पोन्स आपकी वेजाइनल वॉल को शुष्क बनाता है तो यह समय होता है कि आपको टैम्पोन्स का इस्तेमाल करना बंद कर देना चाहिए। उसकी जगह पैड का इस्तेमाल करना शुरु कर देना चाहिए। [ये भी पढ़ें: निप्पल्स से असामान्य रुप से डिसचार्ज होने के कारण]

डिसचार्ज: जब टैम्पोन्स पूरी तरह भर जाए और उसे बाहर नहीं निकालती हैं तो उससे भूरे रंग का पानी बाहर निकलने लगता है। इसलिए बेहतर है कि आप सही समय पर इसे बाहर निकाल लें।

दुर्गंध: पीरियड्स के दौरान महिलाओं को दुर्गंध आती है। कभी-कभी महिलाएं टैम्पोन्स को लंबे समय तक लगे रहने देती हैं जिसे बाद में डॉक्टर की मदद से बाहर निकालना पड़ता है। इस दौरान जो दुर्गंध आती है वह रक्त की दुर्गंध होती है लेकिन जब यह शरीर के बैक्टीरिया के संपर्क में आने लगता है तो दुर्गंध काफी ज्यादा आने लगती है।

वेजाइनल इचिंग: पीरियड्स के दौरान टैम्पोन्स का इस्तेमाल करने से वेजाइनल इंचिंग की समस्या हो सकती है। ऐसा टैम्पोन्स में मौजूद केमिकल्स की वजह से होता है।जो आपकी त्वचा के संवेदनशील टिशू को नुकसान पहुंचाते हैं। [ये भी पढ़ें: धूम्रपान करने से पड़ते हैं महिलाओं के स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "