महिलाओं की कुछ अस्वस्थ आदतें जिन्हें छोड़ देना है बेहतर

what are the unhealthy habits of women

घर के काम, ऑफिस सभी चीजों में महिलाएं अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना भूल जाती हैं। जिसकी वजह से वह बहुत जल्दी बीमार होने लगती हैं। पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अपने स्वास्थ्य का ज्यादा ध्यान रखने की जरुरत होती है। लेकिन उन्हें कुछ बुरी आदतें लग जाती हैं जो उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो जाती हैं। इसलिए बेहतर है कि इन आदतों को समय से पहले ही दूर कर दिया जाए। तो आइए आपको महिलाओं को अस्वस्थ आदतों के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: कई स्वास्थ्य समस्याओं की तरफ संकेत करते हैं पीरियड्स]

छोटे साइज की ब्रा पहनना: ब्रेस्ट का साइज बढ़ाने और उन्हें सही शेप में रखने के लिए कुछ महिलाएं बहुत ज्यादा टाइट ब्रा पहनती हैं। जिसकी वजह से ब्रेस्ट में रक्त का प्रवाह कम हो जाता है और कई समस्याएं होने का खतरा बढ़ जाता है। छोटे साइज या टाइट ब्रा पहनने से ब्रेस्ट की शेप तो खराब होती ही है साथ ही इससे कमर और गर्दन में दर्द हो सकता है।

हाई हील्स पहनना: महिलाओं को हील्स पहनने का बहुत शौक होता है। अपने फिगर को सही शेप में रखने और आत्म-विश्वास बढ़ाने के लिए कई महिलाएं हील्स पहनती हैं। हील्स आपके बॉडी शेप को सही रखने में तो मदद करती हैं लेकिन इसके कई नुकसान भी होते हैं। हील्स की वजह से एड़ियों में दर्द, जोड़ों में दर्द और कमर में दर्द जैसे कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं महिलाओं को होती हैं। इसलिए हमेशा उन फुटवियर को पहने जिसमें आपको सहज महसूस हो। [ये भी पढ़ें: यीस्ट इंफेक्शन को प्राकृतिक रुप से ठीक करने के उपाय]

रात में ब्रा पहनकर सोना: ब्रेस्ट के साइज को बढ़ाने और सही शेप में रखने के लिए महिलाएं रात को भी ब्रा पहनकर सोती हैं। ब्रा में मौजूद अंडरवायर्ड मांसपेशियों को प्रभावित करते हैं जिससे नसों में रक्त प्रवाह कम होने लगता है। साथ ही त्वचा पर रैशेज भी होने लगते हैं जिसी वजह से त्वचा काली पड़ने लगती है।

फैन्सी अंडरवियर पहनना: शरीर के बाकि अंगों की तरह जेनिटल हाइजीन भी उतनी ही महत्वपूर्ण होती है। लेकिन महिलाएं इस बार ध्यान ना देते हुए फैन्सी अंडरवियर पहनना पसंद करती हैं। वह कपड़े पर ध्यान नहीं देती हैं जिसकी वजह से यीस्ट इंफेक्शन, दुर्गंध आना और खुजली की समस्या होने लगती है। जो आपके प्राइवेट पार्ट को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए कॉटन के अंडवियर पहनना बेहतर होता है।

पैड का गलत तरह से इस्तेमाल करना: पीरियड्स के दौरान महिलाएं एक ही पैड को लंबे समय तक लगाकर रखती हैं जिसकी वजह से इंफेक्शन, ड्राईनेस, दुर्गंध और डिसचार्ज की समस्या होने लगती हैं। इसलिए बेहतर है कि पैड को 4-6 घंटे तक ही इस्तेमाल करें। [ये भी पढ़ें: ब्रेस्टफीडिंग के दौरान अदरक की चाय का सेवन क्यों बेहतर है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "