वेजाइना में सूजन होने के पीछे क्या कारण हो सकते हैं

Read in English
what are the main causes of vaginal swelling

वेजाइना में सूजन होना महिलाओं के लिए चिंता का विषय है। यह समस्या किसी भी महिला को हो सकती है। कारण जैसे पीरियड्स, गर्भावस्था, या शारीरिक संबंध इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। कभी-कभी, वेजाइनल इंफेक्शन भी सूजन का कारण बन सकता है। हालांकि, महिलाओं को वेजाइना में होने वाले सूजन के कारणों के बारे में जानना चाहिए। यह किसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या का इशारा हो सकता है जिसें तुरंत चिकित्सा की आवश्यकता हो। वेजाइना में सूजन के साथ हल्का बुखार, गंभीर दर्द, ब्लीडिंग आदि परेशानी हो सकती है। आइए जानते हैं वेजाइना में सूजन होने के पीछे क्या कारण हो सकते हैं। [ये भी पढ़ें: हर उम्र में अपनी वेजाइना का कैसे ध्यान रखें]

केमिकल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल
हम कपड़े धोने के लिए डिटर्जेन्ट पाउडर, नहाने के लिए साबुन और अन्य केमिकल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं जिससे वेजाइना प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रुप से इनके संपर्क में आती है और इस कारण वेजाइनल इरिटेशन हो सकती है। इसके अलावा सेनेटरी पैड, टैम्पोन, लुब्रिकेंट्स, वेजाइनल वॉश आदि भी वेजाइना में होने वाली सूजन का कारण हो सकते हैं। इस तरह के केमिकल प्रोडक्ट्स का उपयोग कर दें और प्राकृतिक उत्पादों का इस्तेमाल करें।

यीस्ट इंफेक्शन
यीस्ट इंफेक्शन महिलाओं में होने वाली सबसे आम समस्याओं में से एक है। यह समस्या वेजाइना में और उसके आसपास कैंडिडा फंगल के बढ़ जाने के कारण होती है। इसके कारण वेजाइना में दर्द, डिसचार्ज, सूजन, आदि परेशानी हो सकती है। अगर सूजन का कारण यीस्ट इंफेक्शन है तो डॉक्टर से संपर्क करें। [ये भी पढ़ें: घर पर कैसे बनाएं नेचुरल वेजाइनल वॉश]

गर्भावस्था
गर्भावस्था के कारण आपको कई तरह के बदलावों का सामना करना पड़ता है। गर्भ के विकास के कारण पेल्विस पर दबाव बढ़ जाता है। इस कारण वेजाइना में सूजन हो सकती है। इसके कारण गंभीर दर्द, पेशाब के दौरान असहजता जैसी परेशानियां हो सकती हैं।

जेनाइटल हर्पीस
जेनाइटल हर्पीस एक यौन संचारित रोग है और यह काफी सामान्य बीमारी है। इसके दौरान वेजाइना में छोटे छाले हो जाते हैं और बुखार, शरीर में दर्द, वेजाइना में दर्द आदि परेशानियां हो सकती हैं। इसके कारण वेजाइना में सूजन हो सकती है।

असहज शारीरिक संबंध
शारीरिक संबंधों के दौरान अगर वेजाइना सही तरीके से लुब्रिकेट नहीं होती है तो फ्रेक्शन के कारण वेजाइना में सूजन और इंफ्लेमेशन हो सकती है। इसके कारण वेजाइना के टिशू टूट जाते हैं जिससे दर्द और ब्लीडिंग भी हो सकती है। इसलिए नेचुरल लुब्रिकेन्ट का इस्तेमाल करें। [ये भी पढ़ें: पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के उपचार के लिए प्राकृतिक उपाय]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "