पीरियड्स में कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन महिलाओं के लिए होता है लाभकारी

what-are-the-foods-you-should-eat-during-periods

पीरियड्स महिलाओं के जीवन में आने वाला एक सामान्य दौर है। पीरियड्स के दौरान हर महिला को पीरियड्स क्रैम्प्स का सामना करना पड़ता है। यह दर्द कम हो या ज्यादा लेकिन इस दर्द से महिलाओं को हर माह जूझना पड़ता ही हैं। पीरियड्स के दौरान खाए जाने वाले खाद्य पदार्थ आपके शरीर पर प्रभाव डालते हैं। ऐसे में आपको उन खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो कि आपके शरीर के लिए लाभकारी होते हैं और साथ ही पीरियड्स के कारण हो रही परेशानियों को कम करने में आपकी मदद करते हैं। आइए जानते हैं कि ऐसे कौन-कौन से खाद्य पदार्थ है जिनका सेवन आपको पीरियड्स के दौरान करना चाहिए।[ये भी पढ़ें: उम्र के साथ वेजाइना में क्या बदलाव आते हैं]

1. हरी पत्तेदार सब्जियां: हरी पत्तेदार सब्जियां विटामिन B और फाइबर से भरपूर होती है जो कि पाचन तंत्र के लिए लाभकारी होने के साथ-साथ पीरियड्स के दर्द को कम करने के लिए उपयोगी होती हैं।

2.नट्स: नट्स में ओमेगा-3 फैटी एसिड और पोषक तत्व भरपूर होने के साथ-साथ एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण पर्याप्त मात्रा में होते हैं। पीरियड्स के दौरान नट्स का सेवन करने से बार-बार भूख नहीं लगती और साथ ही पीरियड्स का दर्द भी कम होता है। [ये भी पढ़ें: वर्कआउट जो आप पीरियड्स के दौरान कर सकती है]

3.डार्क चॉकलेट्स: डार्क चॉकलेट में कोकोआ अधिक मात्रा में होता है साथ ही इसमें मौजूद मैग्नीशियम सेरोटोनिन हार्मोन के स्तर को बढ़ा देता है जो कि तनाव को कम करने में मदद करता है। पीरियड्स के दौरान डार्क चॉकलेट का सेवन करने से प्राकृतिक रुप से तनाव कम हो जाता है।

4.केला: ऊर्जा प्रदान करने वाले फल के रुप में लोकप्रिय केले में पोटेशियम और विटामिन B6 होता है। इसे खाने से मसल्स को आराम मिलता है और पेट फूलता नहीं हैं। पोटेशियम दिमाग तक ऑक्सीजन पहुंचाने में भी मददगार होता है और रक्त चाप भी सही रहता है जिससे आपका मूड सही रहता है। इसलिए केला खाने से पीरियड्स में दर्द और तनाव दोनों कम होते हैं।

5.ब्रोकली: ब्रोकली में फाइबर, विटामिन B6, विटामिन E और मैग्नीशियम पर्याप्त मात्रा में होते हैं जो कि पाचन को सही रखने, पीरियड्स के दौरान होने वाले मूड स्विंग्स को कम करने में और क्रैम्प्स के दर्द को कम करने में मददगार होते हैं। [ये भी पढ़ें: यीस्ट इंफेक्शन के अलावा वेजाइनल इचिंग के और क्या कारण हो सकते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "