सवाल जो स्तनपान कराने वाली महिलाओं को करते हैं परेशान

what are the concerns women have while breastfeeding

बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए स्तनपान कराना जरुरी होता है, लेकिन यह हमेशा आसान नहीं होता है। स्तनपान कराने के लिए कई तरीकों का उपयोग किया जा सकता है। लेकिन कुछ तरीकों की वजह से महिलाओं को असहज महसूस होता है। स्तनपान कराते समय महिलाओं के दिमाग में कई सवाल चल रहे होते हैं जो उन्हें परेशान करते रहते हैं। इन सवालों की वजह से महिलाओं को स्तनपान कराने में भी दिक्कत हो सकती है। तो आइए आपको उन सवालों के जबाव देते हैं जो स्तनपान कराने वाली हर महिला के दिमाग में चल रहे होते हैं। [ये भी पढ़ें: ब्यूटी हैक्स जो भूलकर भी वेजाइना के लिए ना करें इस्तेमाल]

सवाल-1 छोटे स्तनों में दूध का पर्याप्त उत्पादन नहीं होगा?
गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के स्तन में वृद्धि होती है तो अगर गर्भधारण के पहले आपके स्तन का साइज छोटा है तो बच्चे के जन्म या डिलिवरी होने के बाद आपके स्तन का आकार बड़ा हो जाता है। दूध के उत्पादन से ब्रेस्ट के साइज बढ़ाने वाले फैटी टिशू से कोई संबंध नहीं होता है। क्योंकि महिला के अंदर लैक्टेटिंग संरचनाएं एक सी होती हैं। फिर चाहे आपके ब्रेस्ट का आकार छोटा हो या बड़ा।

सवाल-2 स्तनपान कराने के लिए ब्रेस्ट का साइज बड़ा होना चाहिए?
ब्रेस्टफीडिंग के दौरान सही पोजीशन काफी मददगार होती है। स्तनपान कराते समय सीधे बैठकर बच्चे को ऊर्ध्वाधर स्थिति में सीने के पास करते है तो यह काफी मददगार पोजीशन होती है। इसके लिए आपके ब्रेस्ट के साइज का बड़ा होने जरुरी नहीं होता है। लेकिन उसके बाद भी आप इस बात को लेकर परेशान है तो अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं। [ये भी पढ़ें: पीरियड्स के दौरान त्वचा की देखभाल कैसे करें]

सवाल-3 इंवर्टेड निपल्स कई ब्रेस्टफीडिंग समस्याओं के कारण होते हैं?
कई बार महिलाओं को लगता है कि उनके इंवर्टेड निपल्स ब्रेस्टफीडिंग के दौरान समस्याएं पैदा कर सकते हैं। लेकिन जब बच्चा स्तनपान करना शुरु करता है तो निपल्स बाहर की तरफ आ जाते हैं। लेकिन उसके बाद भी आपको दिक्कत होती है तो आप पंप करके निपल्स को ठीक कर सकते हैं। एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि निप्पल सिर्फ लेक्टेशन के लिए जरुरी होता है।

सवाल-4 क्या मेरे निपल्स लैचिंग के लिए बहुत बड़े हैं?
निपल्स का साइज बड़ा होने से बहुत सी महिलाओं को लगता है कि उनके बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग में दिक्कत हो सकती है। या वह सही तरीके से फीड नहीं कर पाता है। क्योंकि फीडिंग के दौरान बच्चे के मुंह में निप्पल्स का साइज बड़ा होने की वजह से पूरी तरह से जा पाता है और ब्रेस्टफीडिंग के दौरान आपके निप्पल्स बच्चे के मुंह में सही तरीके से जाने चाहिए। इसके लिए निप्पल को बच्चे के ऊपरी होठ के नीचे करें। इससे फीड करना में दिक्कत नहीं होती है।  [ये भी पढ़ें: शिशु के जन्म के बाद वेजाइना की देखभाल कैसे करें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "