ब्रेस्ट पेन होने के क्या कारण हो सकते हैं

What are the common causes of Breast Pain

ब्रेस्ट पेन की समस्या हर उम्र की महिलाओं को होता है। मेनोपॉज के दौरान और उसके बाद भी ब्रेस्ट पेन की समस्या हो जाती है। मेनोपॉज के दौरान और उसके बाद भी कई महिलाओं को ब्रेस्ट पेन का सामना करना पड़ता है। ये समस्या उनको ज्यादा होता है जिसे पीरियड्स होना शुरू हुआ है। ब्रेस्ट पेन ब्रेस्ट के आसपास के किसी भी हिस्से में हो सकता है। इसकी वजह से सूजन की समस्या हो जाती है और साथ ही ब्रेस्ट टाइट भी हो जाते हैं। इसके अलावा मेंस्ट्रुएशन, लैक्टेशन, प्रेग्नेंसी और मेनोपॉज के कारण होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण भी ब्रेस्ट पेन की समस्या हो जाती है। इसके कारण थोड़ी असहजता महसूस जरूर होती है लेकिन यह कोई गंभीर समस्या नहीं होती है। ब्रेस्ट पेन हल्का भी होता है और कभी-कभी थोड़ा ज्यादा होता है। आइए जानते हैं कि किन कारणों की वजह से ब्रेस्ट पेन की समस्या हो जाती है। [ये भी पढ़ें: योनि में दर्द किन कारणों से हो सकता है]

सही साइज का ब्रा नहीं पहनने की वजह से:
ब्रा हमेशा सही साइज का पहनना चाहिए। ना ज्यादा ढ़ीला होना और ना ज्यादा टाइट होना चाहिए। ब्रेस्ट को प्रॉपर सपोर्ट ना मिलने के कारण भी ब्रेस्ट पेन की समस्या होती है।

इंफेक्शन के कारण:
ब्लॉक्ड मिल्क डक्ट, इन्ग्रो हेयर, क्लॉग्ड स्वेट ग्लैन्ड और बैक्टीरियल इंफेक्शन की वजह से ब्रेस्ट इंफेक्शन हो जाता है और इस कारण ब्रेस्ट पेन होता है। लालीपन, सूजन और दर्द जैसी समस्या के कारण निप्पल में पस, ब्लड और डिस्चार्ज होता है जिसके कारण ब्रेस्ट पेन की समस्या हो जाती है। [ये भी पढ़ें: स्ट्रैच मार्क्स से बचने के उपाय]

मास्टीसिस:
मास्टीसिस ब्रेस्ट में होने वाली एक ऐसा इंफेक्शन है जिसके कारण ब्रेस्ट पेन की समस्या हो जाती है। जो महिलाएं स्तनपान कराती हैं वह इसकी शिकार होती है क्योंकि इस दौरान मिल्क डक्ट बंद हो जाते हैं। लेकिन यह समस्या सिर्फ स्तनपान कराने वाली महिलाओं को ही हो ऐसा जरूरी नहीं है क्योंकि यह कोई इंफेक्शन नहीं है जो सिर्फ ब्रेस्टफिडिंग वाली महिलाओं को होगी।

मेडिकेशन की वजह से:
कुछ मेडिकेशन की वजह से भी ब्रेस्ट पेन की समस्या होती है। इन्फर्टिलिटी ट्रीटमेंट, ओरल हार्मोनल कॉन्ट्रासेप्टिव, एंटीडिप्रेसेंट्स और पोस्टमेनोपॉसल एस्ट्रोजेन की वजह से भी ब्रेस्ट पेन होती है। जिन महिलाओं को ब्रेस्ट पेन की समस्या होती है उन्हें अपने डॉक्टर से परामर्श करने की जरूरत है।

कॉस्टोकॉन्ड्राइसिस:
कॉस्टोकॉन्ड्राइसिस एक प्रकार का अर्थराइटिस है जिसमें रिब्स और ब्रेस्टबोन जुड़ता है। हालांकि ये कंडीशन ब्रेस्ट से रिलेटेड नहीं है, लेकिन जलन होने की वजह से इसे महिलाएं ब्रेस्ट पेन की समस्या समझ लेती हैं। [ये भी पढ़ें: टैम्पोन्स का इस्तेमाल ना करने से होने वाले फायदे]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "