पीरियड्स के दौरान होने वाली वेजाइनल ईचिंग के कारण

Read in English
what are the causes of vaginal itching during periods

वेजाइनल ईचिंग एक आम समस्या है जिससे अधिकतर महिलाएं परेशान रहती हैं। सामान्य तौर पर यह समस्या पीरियड्स के दौरान अधिक होती है। ऐसे में आप जितना परेशान होती हैं उतना ही असहज भी महसूस करती हैं। साथ ही आपके मन में ये सवाल भी रहता है कि पीरियड्स के दौरान खुजली होने के पीछे क्या कारण हो सकते हैं। अगर आप इसकी वजह जान पाती हैं तो आप इसका उपचार करने में आसानी होती है। अगर आप पीरियड्स के दौरान वेजाइनल ईचिंग से परेशान हैं तो आइए जानते हैं कि इस समस्या के पीछे का क्या कारण हो सकते हैं। [ये भी पढ़ें: ब्रेस्ट के विभिन्न प्रकार जिनके बारे में शायद ही आप जानती होंगी]

इंफ्लेमेशन(सूजन)
पीरियड्स के दौरान आपके शरीर मे इंफ्लेमेशन बढ़ जाती है जिससे आपके जेनाइटल एरिया में भी इंफ्लेमेशन ज्यादा होती है। इसी इंफ्लेमेशन के कारण आपको वेजाइनल ईचिंग की समस्या अधिक होती है।

संग्रहित रक्त खुजली का कारण हो सकता है
आपके पीरियड्स के दौरान जेनाइटल एरिया में रक्त का प्रवाह होता है। काफी समय से संग्रहित रक्त जब आपकी त्वचा के संपर्क में आता है तो आपको इससे इरिटेशन होने के कारण खुजली हो सकती है। अगर आप मेंस्ट्रुअल साइकल के आखिर समय में हैं तो आपको खुजली होने की संभावनाएं अधिक होती हैं। [ये भी पढ़ें: हाइजीन टिप्स जो हर महिला के लिए होते हैं आवश्यक]

हार्मोनल असंतुलन
पीरियड्स के दौरान आपके शरीर में हार्मोनल असंतुलन होता है। एस्ट्रोजन का स्तर गिरने के कारण वेजाइना में नमी कम हो जाती है और वेजाइनल एरिया में ड्रायनेस होने लगती है। इसी कारण आपको वेजाइनल ईचिंग हो सकती है।

सेनेटरी पैड से एलर्जिक रिएक्शन
पीरियड्स के दौरान अधिकतर महिलाएं सेनेटरी पैड्स का इस्तेमाल तो करती ही हैं। इस बात का ख्याल रखें कि पीरियड्स के दौरान आपको वेजाइना के हर हिस्से में खुजली होने की संभावनाएं होती हैं। अगर आपको अधिक खुजली हो रही है तो हो सकता है सेनेटरी पैड्स से एर्लजिक रिएक्शन के कारण ऐसा हो रहा है। इस दौरान अनसेन्टेड पैड्स का इस्तेमाल करें।

पीरियड्स के दौरान ईचिंग से कैसे बचें

  • सही और उचित हाईजीन का ख्याल रखें। वेजाइनल एरिया को साफ सुथरा रखें।
  • अनसेन्टेड साबुन और सेनेटरी पैड्स का ही इस्तेमाल करें।
  • पर्सनल लुब्रिकेशन का इस्तेमाल करें ताकि वेजाइनल ड्रायनेस को कम किया जा सकें।
  • अगर ड्रायनेस के कारण ईचिंग हो रही है तो वेजाइनल मॉइश्चर का इस्तेमाल कर सकती हैं।
  • सेनेटरी पैड्स को 5-6 घंटे से ज्यादा इस्तेमाल ना करें। समय-समय पर पैड बदलती रहें। [ये भी पढ़ें: फेमिनिन वॉश का इस्तेमाल करना उचित है या नहीं]
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "