पीरियड्स के दौरान नींद की समस्या को कैसे दूर करें

Tips to Sleep Better With Menopause

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को चिंता, हॉट फ्लैश और रात में पसीना आने की समस्या होती है जिसकी वजह से उनकी नींद प्रभावित होने लगती है। थकावट, तनाव की वजह से नींद ना आने की समस्या बदतर बन जाती है। ऐसा पीरियड्स के कुछ समय पहले एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का उत्पादन ना होने की वजह से होता है। हार्मोन का लेवल कम होने की वजह से बॉट फ्लैश और राते में पसीना आने की समस्या होने लगती है। शरीर का तापमान ज्यादा होने की वजह से इस दौरान नींद आना कम हो जाती है। हॉट फ्लैश की वजह से अक्सर रात को नींद खुल जाती है। जिसकी वजह से ज्यादा तनाव महसूस होने लगता है और नींद आना कम हो जाती है। इस समस्या को कुछ आसान तरीकों की मदद से ठीक किया जा सकता है। तो आइए आपको कुछ उपायों के बारे में बताते हैं जो पीरियड्स के दौरान नींद की समस्या को दूर करने में मदद करेंगे। [ये भी पढ़ें: कितने तरह के हो सकते हैं वेजाइनल ओडर]

उचित भोजन और एक्सरसाइज करें: नियमित रुप से खाना जरुरी होता है। सही मात्रा में भोजन का सेवन करके और एक्सरसाइज करके हॉट फ्लैश से रोकथाम की जा सकती है। आपकी इन एक्टिविटी का समय निर्भर करता है। अगर गलत समये पर एक्सरसाइज की जाए तो नींद में समस्या हो सकती है।

कॉटन की चादर का इस्तेमाल करें: दूसरे फेबरिक की तुलना में कॉटन का कपड़ा अच्छा होता है। यह त्वचा को ठंडा रखने में मदद करता है। यह शरीर से हीट को दूर रखने में मदद करते हैं। साथ ही पसीना भी कम आने देते हैं। [ये भी पढ़ें: महिलाओं में हार्मोन असंतुलन होने पर कौन से लक्षण दिख सकते हैं]

निकोटिन, कैफीन और एल्कोहल का सेवन ना करें: कैफीन, एल्कोहल का सेवन करने से यह आपके सिस्टम को 8 घंटे तक उत्तेजित रखता है जिससे आपको नींद नहीं आती है। इसके साथ ही इनका सेवन करने से महिलाओं को हॉट फ्लैश का ट्रिगर होता है। जिसकी वजह से नींद में समस्या होने लगती है। साथ ही सोने से पहले एल्कोहल का सेवन नहीं करना चाहिए।

कमरे को ठंडा रखें: हॉट फ्लैश और पसीने की वजह से नींद खुल जाती है। इसके लिए अपने कमरे के तामपान को अपने अनुसार सही रखें। नहाने से पहले नहा जरुर लें और अगर आपकी आंख हॉट फ्लैश की वजह से खुल गई है तो बेड पर लेटे ना रहें इसके लिए बैड से उठकर कोई आराम देने वाली चीज करें जिससे आपको नींद आ जाए।

आराम करें: पीरियड्स के दौरान अगर चिंता की वजह से रात तो नींद नहीं आती है तो कोई भी आराम पहुंचाने वाली तकनीक जैसे मेडिटेशन, योग, गहरी सांस लेने वाली एक्सरसाइज करें। इससे आपको नींद अच्छी आएगी। अगर आपको हॉ फ्लैश की समस्या नहीं है तो गर्म पानी से नहा लें। [ये भी पढ़ें: कारण जो अधिक वेजाइनल डिसचार्ज की वजह हो सकते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "