Women’s Health: महिलाओं को अपने स्वास्थ्य के बारे में क्या पता होना चाहिए

woman should know about her body

Women's Health: महिलाओं को स्वास्थ्य के बारे में क्या पता होना चाहिए

Women’s Health: स्वास्थ्य को बेहतर रखना महिला और पुरूष दोनों के लिए जरूरी होता है। स्वास्थ्य को लेकर महिलाओं कई बार लापरवाही करती हैं जिसके कारण उन्हें कई स्वास्थ्य समस्याएं होने का खतरा बढ़ जाता है। महिलाओं को अपने स्वास्थ्य को लेकर कई बातों के बारे में पता नहीं होता है जिसके कारण उनका स्वास्थ्य प्रभावित होता है। सही खान-पान ना होना, शारीरिक गतिविधि ना होना या फिर खराब दिनचर्या के कारण भी स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचता है और कई बीमारी भी हो जाती हैं। महिलाओं को पता होना चाहिए कि अपने स्वास्थ्य को बेहतर रखने के लिए उनको क्या करना चाहिए और क्या नहीं। बहुत सी ऐसी स्वास्थ्य समस्या होती है जो दिखती तो छोटी होती है लेकिन वास्तव में वो गंभीर समस्या होती है। [ये भी पढ़ें: menopause diet: मेनोपॉज के दौरान महिलाओं को क्या खाना चाहिए]

Women’s Health: स्वास्थ्य को लेकर महिलाओं को क्या पता होना चाहिए

  • शरीर का सही आकार होना
  • हड्डियों का स्वास्थ्य
  • मानसिक स्वास्थ्य
  • पर्याप्त नींद लें
  • स्वस्थ आहारों का सेवन

शरीर का सही आकार होना:

things every girl needs to know
Women’s Health: महिलाओं को अपने शरीर के आकार का पता होना चाहिए

महिलाओं के शरीर में प्यूबर्टी, मेनोपॉज और गर्भावस्था के दौरान कई हार्मोनल बदलाव आते हैं जिसके कारण उनके शरीर का आकार खराब होता जाता है। इसलिए हमेशा आपको अपने डाइट और एक्सरसाइज पर ध्यान देना चाहिए ताकि आप स्वस्थ और हेल्दी रह सकें।

हड्डियों का स्वास्थ्य:
19 से 50 उम्र तक की महिलाओं को कम से कम 1000 मिलीग्राम कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थो का सेवन करना चाहिए ताकि हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत और स्वस्थ रहें और तीन से चार सर्विंग्स मिनरल्स का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा रोजाना 15 से 20 मिनट धूप में भी रहना चाहिए ताकि पर्याप्त मात्रा में विटामिन-डी मिल सके।

मानसिक स्वास्थ्य:
महिलाएं डिप्रेशन, चिंता और इन्सोमनिया की अधिक शिकार होती हैं। इसलिए महिलाओं को नियमित रूप से योगा और मेडिटेशन करना चाहिए ताकि उनके शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साछ मानसिक स्वास्थ्य भी बेहतर हो जाए।

पर्याप्त नींद लें:
पर्याप्त नींद ना लेने के कारण इम्यूनिटी प्रभावित होती है जिसके कारण टाइप-2 डायबीटिज होने की संभावना बढ़ जाती है और हृदय रोग भी हो जाता है। इसलिए रोजाना कम से कम 6-7 घंटे की नींद लेनी चाहिए ताकि स्वास्थ्य प्रभावित ना हो।

स्वस्थ आहारों का सेवन:
स्वस्थ आहार ना होने के कारण या फिर अधिक तैलीय या मसालेदार खाने की वजह से महिलाएं कई स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रसित हो जाती है। अनियमित रूप से वजन बढ़ने लगता हा या फिर शरीर पर अतिरिक्त फैट एकत्रित हो जाता है। इसके अलावा इन खाद्य पदार्थो का सेवन पेट से जुड़ी समस्याओं को भी बढ़ाता है। [ये भी पढ़ें: Hormonal Headaches: हार्मोन की वजह से होने वाले सिरदर्द को दूर करने के प्राकृतिक उपाय]

महिलाओं को अपने स्वास्थ्य का खास ध्यान रखने की आवश्यकता होती है वरना वो कई स्वास्थ्य संबंधित समस्या से ग्रसित हो सकती हैं।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "