टैम्पोन्स का इस्तेमाल करते समय अक्सर की जाने वाली गलतियां

tampon mistakes you are probably making

पीरियड्स के दौरान महिलाएं सैनेटरी पैड्स, टैम्पोन्स का इस्तेमाल करती हैं। टैम्पोन्स का इस्तेमाल करना आसान होता है लेकिन फिर भी इसका इस्तेमाल करते समय महिलाएं कुछ गलतियां कर बैठती हैं। टैम्पोन्स का इस्तेमाल करने से आपको शारीरिक गतिविधियां करने में मदद मिलती है। साथ ही किसी तरह की समस्या नहीं होती है। यह एक स्टिक के आकार का होता है जो खून के स्त्राव को अवशोषित करता है। इसके साथ ही इसमें एक स्ट्रिंग भी होती है। इसके बारे में पता होने के बावजूद भी कुछ गलतियां कर बैठती हैं। तो आइए आपको टैम्पोन्स का इस्तेमाल करते समय की जाने वाली गलतियों के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: तरीके जो महिलाओं को जवां दिखने में मदद करते हैं]

टैम्पोन्स का इस्तेमाल करने और बाद में हाथ नहीं धोना: जिस तरह से आप टैम्पोन्स लगाने के बाद हाथ धोते हैं ठीक उसी तरह टैम्पोन्स का इस्तेमाल करते समय हाथ धोना जरुरी होता है। यह टैम्पोन के साथ रहने के साथ कीटाणुओं के शरीर में जाने से बचाने में मदद करता है।

रातभर इस्तेमाल करना: बहुत सी महिलाएं टैम्पोन्स को रातभर लगाकर सो जाती है। लेकिन इससे टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसा लंबे समय तक टैम्पोन्स का इस्तेमाल करने की वजह से होता है। इसलिए रात को टैम्पोन्स की बजाय पैड्स का इस्तेमाल करें। [ये भी पढ़ें: महिलाओं में दिखने वाले ल्यूकेमिया के संकेत]

पॉटी के बाद टैम्पोन ना बदलना: जब आप पॉटी करते हैं तो टैम्पोन बाहर की तरफ आ जाता है। कभी-कभी तो यह पूरी तरह भी बाहर आ जाता है। अगर इस दौरान स्ट्रिंग में बैक्टीरिया लग जाएं तो कुछ समय बाद वेजाइनल इंफेक्शन का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए हमेशा पॉटी के बाद टैम्पोन बदलें।

सैनटिड टैम्पोन का इस्तेमाल करना: किसी भी तरह के सुगंध वाली चीज का इस्तेमाल वेजाइना के आस-पास नहीं करना चाहिए क्योंकि उन चीजों में आर्टिफिशियल यौगिक मिले हुए होते हैं। यह केमिकल शरीर के लिए हानिकारक होते हैं। जिससे वेजाइना में खुजली और डिसचार्ज हो सकता है। इसलिए बेहतर है कि सैनटिड टैम्पोन का इस्तेमाल ना करें।

सही अवशोषण वाले टैम्पोन का इस्तेमाल ना करना: लंबे समय तक टैम्पोन्स का इस्तेमाल करने से बैक्टीरियल इंफेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है लेकिन क्या आपको इस बात के बारे में पता है कि ज्यादा अवशोषण क्षमता वाले टैम्पोन के इस्तेमाल से वेजाइनल ड्राइनेस और वेजाइनल अल्सर हो सकते हैं। इसलिए जरुरी है कि सही अवशोषण क्षमता वाले टैम्पोन का इस्तेमाल किया जाए। [ये भी पढ़ें: पैड के कारण होने वाले रैशेज से कैसे निजात पाएं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "