मैस्टाइटिस(स्तनों के संक्रमण) से बचाव के लिए घरेलू उपाय

Read in English
Remedies for Breast Infection (Mastitis)

मैस्टाइटिस(स्तन का संक्रमण) सामान्यतः उन माताओं को होता है जो स्तनपान करवाती है। इस संक्रमण का खतरा आमतौर पर बच्चे के पैदा होने के 3 महीने बाद तक अधिक होता है।  मैस्टाइटिस सिर्फ एक स्तन को प्रभावित करता है दोनों स्तनों को नहीं। यह एक खतरनाक संक्रमण होता है जो स्तनों से दूध का स्त्राव तो बंद कर ही देता है साथ ही इससे स्तनों में सूजन, दर्द आदि की परेशानी भी हो जाती है। आइए जानते हैं कि स्तनों के संक्रमण से बचने के लिए आप किन घरेलू उपायों का इस्तेमाल कर सकते हैं।[ये भी पढ़ें: एंटी-बायोटिक दवाओं के रिएक्शन से बचने के घरेलू उपाय]

1.मालिश(मसाज): मैस्टाइटिस संक्रमण से ग्रस्त होने पर मालिश करना एक अच्छा उपाय होता है। इससे आप रुके हुए दूध का स्त्राव फिर शुरु कर सकते हैं। साथ ही इससे सूजन को कम करने में सहायता मिलती है। मसाज करने के लिए एप्रीकोट और व्हीट जर्म्स तेल का इस्तेमाल करें और इस प्रक्रिया को रोज अपनाएं।
सावधानी: बच्चे को दूध पिलाने से पहले गर्म पानी से स्तनों को साफ जरुर कर लें।

2. ठंडा और गर्म कंप्रेशन: ठंडे और गर्म पानी से स्तनों का सिंकाई करने से भी इस समस्या में आराम मिलता है। इससे स्तनों के ब्लॉकेज खुलते हैं और दर्द व सूजन से आराम मिलता है। इसके लिए आप पहले गर्म पानी की बोतल को पतले तौलिए में लपेट कर सिंकाई करें और उसके बाद बर्फ से सिंकाई करें। इस प्रक्रिया को दिन में 3-4 बार दोहराएं।

3.बंद गोभी के पत्ते: बंदगोभी में एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी- बैक्टीरियल गुण होते हैं। जो संक्रमण कम करने में मदद करते हैं। इसके लिए बंद गोभी के पत्तों को 30 मिनट तक फ्रिज में ठंडा करके अपने स्तनों पर लगाएं और इसके गर्म होने पर यह प्रक्रिया फिर दोहराएं।[ये भी पढ़ें: जीभ जलने पर अपनाएं खास घरेलू उपचार]

4. लहसुन: लहसुन में एंटी-बायोटिक गुण होते हैं इसलिए लहसुन का इस्तेमाल मैस्टाइटिस के लिए उपयोगी होता है। ये बैक्टीरिया के संक्रमण को कम करने में उपयोगी होता है, साथ ही इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करता है। इसके लिए खाली पेट रोज दो लहसुन की कलियों का सेवन करें, चाहें तो इसे पानी या जूस के साथ भी ले सकते हैं।

5. एप्पल साइडर वेनेगर: मैस्टाइटिस का उपचार करने के लिए एप्पल साइडर वेनेगर भी काफी उपयोगी होता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेंट्री और एंटी- बैक्टीरियल गुण होते हैं जो सूजन कम करते हैं और संक्रमण को कम करते हैं। इसके लिए एक चम्मच गर्म पानी में 2 चम्मच एप्पल साइडर वेनेगर मिलाकर दिन में 3 बार मालिश करने से फायदा होता है। [ये भी पढ़ें: कमजोर और हिलते दांतों को मजबूत बनाने के लिए आजमाएं ये घरेलू उपाय]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "