Tracking Your Menstrual: मेन्स्ट्रूअल साइकिल को ट्रेक करने से क्या फायदे होते हैं

Read in English
benefits of tracking menstrual cycle

tracking menstrual cycle: शरीर को स्वस्थ रखने करने के लिए मेन्स्ट्रू्अल साइकल को ट्रैक करना चाहिए।

पीरियड्स हर महिला को होते हैं। यह महिलाओं को हर महीने होने वाली एक समस्या की तरह ही है। पीरियड्स के दौरान महिलाओं को असहनीय दर्द, मूड स्विंग्स, क्रैंप्स जैसी कई चीजों का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही कई महिलाओं को अनियमित पीरियड्स, कम या ज्यादा ब्लीडिंग जैसी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस दौरान महिलाओं के शरीर में हार्मोनल बदलाव भी होते हैं। इन सभी चीजों के साथ आपको अपनी मेंस्ट्रूअल साइकल का ध्यान रखना जरुरी होता है ताकि आप शरीर में होने वाले बदलावों के बारे में समझ सकें। मेन्स्ट्रूअल साइकल के बारे में ध्यान रखकर आप खुद को स्वस्थ रख सकती हैं। तो आइए आपको मेंस्ट्रूअल साइकल को ट्रेक करने से होने वाले फायदों के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: मेंस्ट्रुुअल साइकल आपके स्वास्थ्य के बारे में क्या बताती है]

Tracking Your Menstrual: मेन्स्ट्रूअल साइकिल को ट्रेक करने के फायदे

शरीर को कंट्रोल
खुद को समझ पाना
फर्टाइल दिन के बारे में पता चलना
पीरियड्स हैवीनेस
मूड को बेहतर बना पाना

शरीर को कंट्रोल: जब आप अपनी मेंस्ट्रूअल साइकल को ट्रेक रते हैं तो आपका शरीर कंट्रोल में रहता है। आपके पीरियड्स मिस नहीं हो जाते हैं या आपको अनुमान लग जाता है कि आप किस दिन पीरियड्स से होगी। इसके अनुसार ही आप खुद को कहीं जाने के लिए तैयार कर सकती हैं।

खुद को समझ पाना: जब आप मेन्स्ट्रूअल साइकल को ट्रेक करती हैं तो आपको पता रहता है कि कब आपके क्रैम्प्स और मूड स्विंग्स बदतर हो सकते हैं। इसके लिए आप सतर्क रहती हैं कि कौन सी चीजें आपके मूड और क्रैम्प्स को बेहतर और बदतर बना सकती हैं।

फर्टाइल दिन के बारे में पता चलना: अगर आप गर्भधारण करना चाहती हैं या इसके बारे में सोच रही हैं तो मेंस्ट्रूअल साइकल को ट्रैक करना आपके लिएन फायदेमंद रहता है। इससे आपको फर्टाइल दिन और ओव्यूलेशन के बारे में पता चल जाता है।

पीरियड्स हैवीनेस: पीरियड्स के दौरान किस दिन हैवी ब्लीडिंग होगी और किस दिन कम इसे मेन्स्ट्रूअल साइकल के ट्रैक करने से पता किया जा सकता है। ताकि आप खुद का ज्यादा ध्यान रख सकें।

मूड को बेहतर बना पाना: पीरियड्स के दौरान मूड स्विंग्स सभी को होते हैं। मेन्स्ट्रूअल साइकल ट्रैक करने से आप मूड स्विंग्स को कम करने या उनसे बचने के लिए आप पहले से ही कुछ तरीके अपनाकर खुद को खुश रख सकती हैं।

[ये भी पढ़ें: पीरियड्स के दौरान महिलाओं को किन बातों का ख्याल रखना चाहिए]

मेंस्ट्रूअल साइकल को ट्रैक करने से आपको कई फायदे होते हैं। इस आर्टिकल को इंग्लिश(English)में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "