मासिक धर्म के दौरान हाइजीन टिप्स का ध्यान रखना है जरुरी

Read in English
menstrual hygiene tips all women should know

मासिक धर्म के दौरान महिलाओं के शरीर से होने वाला रक्तस्राव शरीर से बाहर निकलने के बाद दूषित हो जाता है जिसके कारण अक्सर महिलाओं को कई तरह के यौन संक्रमण होने का खतरा होता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अधिकतर महिलाएं मासिक धर्म के दौरान स्वच्छता का ख़ास ध्यान नहीं रखती हैं। खासतौर पर छोटे शहरों और गांवों में महिलाएं पीरियड्स के दौरान स्वच्छता पर जोर नहीं देती जिससे आगे चलकर मुसीबत बढ़ जाती है। मासिक धर्म के दौरान महिलाएं सही हाइजीन का ख्याल कैसे रख सकती हैं, आइए जानते हैं। [ये भी पढ़ें: स्कीपिंग करने से महिलाओं को होने वाले स्वास्थ्य लाभ]

सेनिटेशन का सही तरीका चुनें: आज बाजार में महिलाओं के लिए कई तरह के सेनिटेशन विकल्प मौजूद हैं जिनका इस्तेमाल महिलाएं मासिक धर्म के दौरान कर सकती हैं, जैसे- सेनिटरी क्लोथ्स, सेनिटरी पैड्स, टैम्पोन्स, और मैन्सट्रयुअल कप। भारत में अधिकतर महिलाएं मासिक धर्म के दौरान सेनेटरी क्लोथ्स का इस्तेमाल करती हैं जबकि कुछ महिलाएं पीरियड्स के दिन और रक्त स्राव के अनुसार सेनेटरी का तरीका चुनती हैं। जबकि आपको किसी एक सुरक्षित तरीके का इस्तेमाल करना चाहिए जो आपके लिए सहज हो।

नियमित रुप से सेनेटरी पैड या टैम्पोन्स को बदलती रहें: मासिक धर्म के दौरान जब एक बार आपके शरीर से रक्त निकल जाता है तो वह दूषित हो जाता है। जब आप अधिक समय तक एक ही पैड या टैम्पोन का इस्तेमाल कर रही होती हैं तो इस दूषित रक्त के कारण आपको कई तरह के संक्रमण जैसे यूरेनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन, या वेजाइनल इंफेक्शन होने की संभावनाएं होती हैं। [ये भी पढ़ें: पीरियड्स के पहले और बाद में वजन बढ़ने के पीछे होते हैं यह कारण]

वेजाइनल हाइजीन प्रोडक्ट्स या साबुन का इस्तेमाल ना करें: वेजाइना में स्वयं को साफ रखने के लिए बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जो कि वेजाइना के अंदर अच्छे और बुरे बैक्टीरिया को संतुलित रखते हैं। अगर आप वेजाइना को साफ करने के लिए साबुन या वेजाइनल हाइजीन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं तो इससे अच्छे बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं जिससे इंफेक्शन होने का खतरा होता है।

पैड रेश से बचें: पीरियड्स के दौरान पैड रेश हो सकते हैं। ऐसा तब होता है जब आप लंबे समय तक एक ही पैड का इस्तेमाल करती हैं। बेहतर है कि आप समय-समय पर पैड बदलती रहें। अगर रैश हो जाते हैं तो एंटी-सेप्टिक ऑइंटमेंट का इस्तेमाल करें। [ये भी पढ़ें: ब्रेस्ट के नीचे पड़ने वाले रैशेज को कुछ उपायों की मदद से करें दूर]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "