Low Estrogen level: शरीर में एस्ट्रोजन के लेवल को कैसे बढ़ाएं

low estrogen level: शरीर में एस्ट्रोजन की कमी होने पर कुछ तरीकों की मदद ली जा सकती है।

एस्ट्रोजन एक हार्मोन होता है जो महिलाओं के शरीर और स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एस्ट्रोजन हार्मोन मैन्स्ट्रूअल साइकल के दौरान गर्भाशय अस्तर की ग्रोथ को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसके साथ ही कोलेस्ट्रॉल और बोन मेटाबॉल्जिम में शामिल होता है। लेकिन जब शरीर में एस्ट्रोजन का लेवल कम हो जाता तो कई गंभीर समस्याएं होने लगती हैं। एस्ट्रोजन हार्मोन का उत्पादन ओवरी में होता है। अगर कोई भी चीज ओवरी को प्रभावित करती है तो इसकी वजह से एस्ट्रोजन हार्मोन का लेवल कम होने लगता है। कुछ संकेतों की मदद से पता चल जाता है कि आपके शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन की मात्रा कम हो गई है। इस ठीक करने के लिए कुछ उपायों की मदद ली जा सकती है। तो आइए आपको उन तरीकों के बारे में बताते हैं जिससे एस्ट्रोजन हार्मोन का लेवल संतुलित करने में मदद मिलती है। [ये भी पढ़ें: Estrogen rich foods: एस्ट्रोजन से भरपूर खाद्य पदार्थ]

Low Estrogen level: एस्ट्रोजन का लेवल बढ़ाने के तरीके

एस्ट्रोजन के लेवल को चेक करें
डाइट में बदलाव करें
वजन बढ़ाएं
कॉफी पिएं
धूम्रपान करना बंद कर दें

एस्ट्रोजन के लेवल को चेक करें: एस्ट्रोजन का लेवल बढ़ाने के लिए सबसे पहले आपको पता होना चाहिए कि आपके शरीर में एस्ट्रोजन की कितनी कमी है। इसके लिए सबसे पहले अपने डॉक्टर के पास जाएं। ताकि वह चेक करके बता पाएं।

डाइट में बदलाव करें: अंतःस्त्रावी प्रणाली को पर्याप्त मात्रा में एस्ट्रोजन का उत्पादन करने के लिए स्वस्थ शरीर की जरुरत होती है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए उन खाद्य पदार्थों का सेवन करें जिनमें फाइटोएस्ट्रोजन होते हैं। इसके लिए आप टोफू, सोया, नट्स का सेवन कर सकते हैं। यह एस्ट्रोजन के लेवल को प्रभावित करते हैं।

वजन बढ़ाएं: अगर आपका वजन कम है और शरीर में एस्ट्रोजन का लेवल कम हो गया है तो वजन बढ़ाने की कोशिश करें इससे शरीर की एस्ट्रोजन का उत्पादन करने की क्षमता बढ़ जाती है।

कॉफी पिएं: एस्ट्रोजन का सेवन बढ़ाने के लिए रोजाना 400 एमजी कैफीन का सेवन फायदेमंद होता है। मगर उससे ज्यादा नहीं। मगर कॉफी का सेवन करने से पहले ध्यान रखें कि वह ऑरगेनिक कॉफी हो।

धूम्रपान करना बंद कर दें: अगर आप धूम्रपान करती हैं तो वह करना बंद कर दें क्योंकि यह अंतःस्त्रावी प्रणाली को प्रभावित करता है। साथ ही शरीर के एस्ट्रोजन हार्मोन के उत्पादन को सीमित कर सकता है।

[जरुर पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आपके शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ रहा हैं]

अगर आपके शरीर में एस्ट्रोजन का लेवल कम हो गया है तो कुछ तरीकों की मदद से इसे ठीक किया जा सकता है।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "