स्तनपान कराने से स्तनों पर क्या प्रभाव पड़ता है

Read in English
how breastfeeding affects your breasts

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में बहुत से शारीरिक और मानसिक बदलाव आते हैं। अगर आप मां बनने वाली हैं या बन चुकी हैं, तो आप इस बात को अच्छे से समझ सकती हैं। हालांकि ये बदलाव केवल गर्भावस्था के समय तक ही सीमित नहीं रहते। गर्भावस्था के बाद भी आपका शरीर कई बदलावों का सामना करता है। गर्भावस्था के बाद आप जब शिशु को स्तनपान कराती है, तो इससे आपके स्तनों पर भी प्रभाव पड़ता है। बहुत सी महिलाओं के मन में कई सवाल होते हैं कि स्तनपान कराने से क्या उनके स्तन ढ़ीले हो जाते हैं? इनका आकार बदल जाता है? या स्तनपान कराने से दर्द होता है? हम आपको ऐसे ही कई सवालों को जवाब देने वाले हैं। आइए जानते हैं कि स्तनपान कराने से स्तनों पर क्या प्रभाव पड़ता है। [ये भी पढ़ें: महिलाओं के लिए सबसे बेहतर प्रोटीन पाउडर कौन सा है]

आकार में बदलाव?
हालांकि आपके स्तनों में अधिकतर बदलाव गर्भावस्था के दौरान ही हो जाते हैं जैसे स्तनों का आकार बढ़ जाता है, निप्पल बड़े हो जाते हैं, स्तनों की नसें अधिक दिखने लगती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आपके स्तन शिशु को स्तनपान कारने के लिए तैयार हो रहे होते हैं। हालांकि स्तनपान कराते वक्त आपके स्तनों में रक्त संचार बढ़ जाता है और दूध के उत्पादन के कारण भी आकार बढ़ जाता है।

स्तनपान कराते वक्त दर्द?
बहुत सी महिलाएं सोचती हैं कि स्तनपान कराने से दर्द महसूस होता है। हालांकि ऐसा नहीं है। हालांकि स्तनपान कराते समय कुछ स्थितियों के कारण आपको असहजता हो सकती है। इस दौरान आपको निप्पल में दर्द महसूस हो सकता है। यह स्तनपान के शुरुआती दिनों में होता है। जैसे-जैसे शिशु स्तनपान करना सही से सीख जाता है, यह समस्या खुद कम हो जाती है। [ये भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान ब्रेस्ट सेंसटिविटी से कैसे निजात पाएं]

स्तनपान के कारण स्तन ढ़ीले हो जाते हैं?
स्तनों का आकार बढ़ने से स्तनों के लिगामेंट्स स्ट्रेच हो जाते हैं जिस कारण स्तन ढ़ीले हो सकते हैं। इसके अलावा अगर आप स्तनपान के दौरान वजन कम करती हैं तो इससे स्तनों में फैट सेल्स कम हो जाते हैं जिससे स्तन ढ़ीले दिखते हैं। हालांकि स्तनपान छोड़ने के कुछ सप्ताह बाद ही ये स्वत ही अपना आकार सही कर लेते हैं क्योंकि इनमें फैट सेल्स भरने लगते हैं।

स्तनों को सही आकार में रखने के लिए क्या करें
अगर आप इस बात को लेकर चिंतित हैं कि सत्नपान कराने से आपके स्तन ढ़ीले हो जाएंगे या इनका आकार बिगड़ जाएगा तो इससे बचने के लिए और स्तनों का आकार सही रखने के लिए आप सही फिटिंग ब्रा पहनें जो आपके स्तनों को सही सपोर्ट दें। इसके अलावा एक्सरसाइज करें जिससे आपके शरीर में रक्त संचार सही रहता है। [ये भी पढ़ें: स्तनों में दूध कम आने के क्या कारण हो सकते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "