हर्ब्स जो ब्रेस्ट साइज बढ़ाने में मदद करते हैं

Read in English
herbs for the growth of breast size

हर महिला के ब्रेस्ट का आकार एक-दूसरे से अलग होता है। कुछ महिलाओं के ब्रेस्ट का आकार प्राकृतिक रुप से अच्छा होता है तो कुछ महिलाओं के ब्रेस्ट का आकार कम होता है। ब्रेस्ट का आकार कम होने की वजह से कई महिलाएं परेशान भी रहती हैं। मैन्सट्रुअल साइकल, प्रेग्नेंसी और मैनोपॉज के बाद ब्रेस्ट टिशू में बदलाव आते हैं। एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन के साथ पोषक तत्व और जेनेटिक भी ब्रेस्ट की ग्रोथ में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अगर आपके ब्रेस्ट का आकार कम है तो इसे कुछ हर्ब्स की मदद से बढ़ाया जा सकता है। इन हर्ब्स का इस्तेमाल प्राकृतिक रुप से ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने में किया जाता हैं। तो आइए आपको इन हर्ब्स के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: वर्कआउट जो आप पीरियड्स के दौरान कर सकती है]

मेथी: मेथी दाना ब्रेस्ट के आकार को बढ़ाने के साथ दृढ़ बनाने में मदद करता है। मेथी ब्रेस्ट के आकार को बढ़ाने वाले एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन को उत्तेजित करने में मदद करता है। इसके साथ ही इनकी मदद से ब्रेस्टफीडिंग के दौरान दूध का उत्पादन बढ़ाने में मदद करता है।

सौंफ: सौंफ की मदद से भी ब्रेस्ट के आकार को उत्तेजित हो सकता है। सौंफ में उच्च मात्रा में फ्लेवोनाइड होते हैं जो शरीर में एस्ट्रोजन का लेवल बढ़ाने में मदद करते हैं साथ ही ब्रेस्ट टिशू की ग्रोथ को बढ़ाते हैं। इसका सेवन करने के लिए आप रोजाना सौंफ की चाय का सेवन कर सकती हैं। [ये भी पढ़ें: यीस्ट इंफेक्शन से जुड़े मिथक जिनसे महिलाएं हैं अनजान]

डेंडेलियान रुट: डेंडेलियान रुट ब्रेस्ट कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करती हैं। साथ ही ब्रेस्ट टिशू के स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद करती हैं। इसका सेवन करने से कोई हारिकारक प्रभाव भी नहीं होते हैं।

फ्लैक्स सीड: फ्लैक्स सीड में उच्च मात्रा में पाइथो-एस्ट्रोजन होता है जो ब्रेस्ट के आकार को बढ़ाने में मदद करता है। पाइथो-एस्ट्रोजन शरीर में एस्ट्रोजन के उत्पादन को उत्तेजित करता है जिससे ब्रेस्ट की ग्रोथ होती है।

मुलेठी: मुलेठी ब्रेस्ट ग्रोथ में मदद करती है। मुलेठी शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है। एस्ट्रोजन ब्रेस्ट टिशू से जुड़ा हुआ होता है। जो प्राकृतिक रुप से ब्रेस्ट के आकार को बढ़ाने में मदद करता है। [ये भी पढ़ें: यीस्ट इंफेक्शन के अलावा वेजाइनल इचिंग के और क्या कारण हो सकते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "