स्कीपिंग करने से महिलाओं को होने वाले स्वास्थ्य लाभ

Read in English
Health benefits of Skipping for women

Photo Credit: india.curejoy.com

स्कीपिंग बस एक गेम नहीं हैं जो बचपन में लड़कियां खेला करती थी बल्कि इसके कई स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं। आज के समय में स्कीपिंग एक्सरसाइज का एक हिस्सा बन चुका है। यह महिलाओं से जुड़ी स्वास्थ्य समस्याओं के लिए एक बेहतर विकल्प होता है। जिम जाने वाली महिलाओं को भी स्कीपिंग करने की सलाह दी जाती है। यह शरीर में होने वाले एक्सट्रा फैट को भी कम करने में मदद करता है। इसके अलावा स्कीपिंग करने से हृदय रोग और त्वचा संबंधी समस्याएं भी कम हो जाती है। यह एक सबसे अच्छा एक्सरसाइज होता है जिससे महिलाएं स्वस्थ रहती हैं। रोजाना कम से कम 45 मिनट जरूर स्कीपिंग करनी चाहिए। आइए जानते हैं स्कीपिंग करने से महिलाओं को कौन से स्वास्थ्य लाभ होते हैं। [ये भी पढ़ें: पीरियड्स के पहले और बाद में वजन बढ़ने के पीछे होते हैं यह कारण]

वजन कम करता है:
बहुत सी महिलाएं अपने बढ़ते वजन की वजह से परेशान रहती हैं। जिन महिलाओं के पास समय की कमी होती है स्कीपिंग उनके वजन को कम करने का एक बेहतरीन तरीका होता है। स्कीपिंग करने से शरीर के एक्सट्रा फैट बर्न हो जाते हैं और शरीर शेप में आने लगता है। यह कम से कम 300 कैलोरी कम करने में मदद करता है।

स्वस्थ दिल के लिए: स्कीपिंग एक बहुत बेहतरीन कार्डियो एक्सरसाइज होता है जो हृदय रोग के खतरे को कम करता है। यह धमनियों और नसों में ब्लड सर्कुलेशन को पहुंचाने में मदद करता है और साथ ही ऑक्सीजन को शरीर के सारे अंगों तक पहुंचाता है। इसके अलावा स्कीपिंग स्टैमिना को भी बढ़ाने में मदद करता है। [ये भी पढ़ें: मेनोपॉज में बढ़ जाता है दिल की बीमारी का खतरा जानें कैसे]

त्वचा के लिए:
रोजाना 15 मिनट स्कीपिंग करना शरीर के ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देता है जो त्वचा संबंधी कई समस्याओं के लिए अच्छा होता है। इसके अलावा यह त्वचा को पोषण प्रदान करता है और शरीर के विषाक्त पदार्थ को निकालने में मदद करता है।

मसल्स को टोन करता है: शारीरिक गतिविधियों में कमी होने के कारण महिलाओं को अक्सर पैरों में दर्द, सूजन या ऐंठन की शिकायत रहती है। लेकिन रोजाना स्कीपिंग करना आपके पैरों और मांसपेशियों में ताकत प्रदान करता है और मसल्स को टोन भी करता है।

लचीलापन लाता है: रोजाना स्कीपिंग करना ना सिर्फ वजन कम करने में मदद करता है बल्कि शरीर में लचीलापन भी लाता है। इसके अलावा स्कीपिंग करने से शरीर नियंत्रित होता है। [ये भी पढ़ें: पीरियड्स ब्लीडिंग और स्पॉटिंग है अलग, कैसे जाने फर्क]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "