पॉलीसिस्ट्रिक ओवरियन सिंड्रोम(पीसीओएस) से ग्रसित महिलाओं को किन फूड्स का सेवन करना चाहिए

Read in English
foods you must eat when suffering from pcos

पॉलीसिस्ट्रिक ओवरियन सिंड्रोम (पीसीओएस) महिलाओं में होने वाला एक हार्मोनल डिसऑर्डर है। जिसमें ओवरी में बाहर की तरफ एक छोटी सिस्ट हो जाती है। हार्मोन के असंतुलित हो जाने की वजह से महिलाओं को कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से ग्रसित हो जाती हैं। महिलाओं के ओवरी में छोटी सिस्ट हो जाने की वजह से कोई समस्या नहीं होती है लेकिन इससे शरीर में हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं। जिसकी वजह से मेंस्ट्रुअल साइकल प्रभावित हो जाती है। प्रेग्नेंसी या गर्भधारण करने में समस्या हो सकती है। जो महिलाएं पीसीओएस से ग्रसित होती हैं उनके शरीर में पुरुष हार्मोन (एंड्रोजन) का उत्पादन अधिक मात्रा में होने लगता है। जिसकी वजह अनियमित पीरियड्स, मुंहासों जैसे कई लक्षण दिखने लगते हैं। अगर आप इस समस्या से ग्रसित हैं तो आपको कुछ फूड्स का सेवन करना चाहिए यह प्राकृतिक रुप से लड़ने में मदद करते हैं। तो आइए आपको इन फूड्स के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: प्यूबिक हेयर को शेव करने से पहले ध्यान रखें कुछ जरुरी बातें]

पालक: पीसीओएस से ग्रसित महिलाओं को हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए। पालक विटामिन ए, सी और बी6 का स्त्रोत होती है जो शरीर से सूजन कम करने में मदद करते हैं।

दालचीनी: दालचीनी शरीर में इंसुलिन को संतुलित बनाने में मदद करता है। इसके लिए रोजाना एक छोटा चम्मच दालचीनी पाउडर को पानी मों मिलाकर पिएं। [ये भी पढ़ें: मैनोपॉज से जुड़ी कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं]

मछली: मछली प्रोटीन के साथ फैटी एसिड का बहुत अच्छा स्त्रोत होती है। मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड जैसे एसेंशियल एसिड होते हैं। जो हार्मोन्स को संतुलित करने में मदद करते हैं।

बीज और मेवे: पीसीओएस से ग्रसित महिलाओं को अपने आहार में हेल्थी फैट, सूखे मेवे शामिल करने चाहिए। इनमें उच्च मात्रा में प्रोटीन होते हैं। जो शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

ब्रोकली: ब्रोकली में उच्च मात्रा में कैल्शियम होता है। इसके साथ ही इसमें कैलोरी भी कम मात्रा में होती है जो महिलाओं को स्वस्थ रखने में मदद करती है। [ये भी पढ़ें: पीरियड्स के दिनों को बाकी दिनों की तरह खुशनुमा कैसे बनाएं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "