फूड्स जो हर महिला को अपने आहार में शामिल करने चाहिए

Read in English
foods that every woman should include in her diet

हर महिला को स्वस्थ रहने के लिए सही डाइट का सेवन करना जरुरी होता है। आपको उन फूड्स का सेवन करना चाहिए जो आपको स्वस्थ, मजबूत बनाने में मदद करते हैं। पुरुषों और महिलाओं दोनों को अलग डाइट की जरुरत होती है, जिससे वह स्वस्थ रह सकें। महिलाओं को अपनी डाइट में कुछ फूड्स को शामिल करना जरुरी होता है, जिससे वह अपने शरीर को बीमारियों से ग्रसित होने से बचा सकें। यह फूड्स महिलाओं के शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं। साथ ही शरीर को पोषक तत्व प्रदान करते हैं। तो आइए आपको उन फूड्स के बारे में बताते है जो हर महिला को अपने आहार में शामिल करने चाहिए। [ये भी पढ़ें: बिकनी वैक्स करने के बाद क्या करें]

ओट्स: ओट्स में कई पोषक तत्व होते हैं जो महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। यह हृदय को स्वस्थ रखने, पाचन को सही रखने और ब्लड प्रेशर के लेवल को संतुलित रखने में मदद करता है। ओट्स में विटामिन बी6 होता है जो पीरियड्स के दौरान होने वाले मूड स्विंग से रोकथाम करने में मदद करता है। इसके साथ ही ओट्स में फॉलिक एसिड होता है जो प्रेग्नेंसी के दौरान बच्चों में होने वाले जन्मदोष से रोकथाम करने में मदद करता है।

पालक: बहुत सी महिलाओं को पालक पसंद नहीं होती है लेकिन इसमें कई मिनरल और विटामिन होते हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। पालक में मैग्नीशिय भी होता है जो पीएमएस के लक्षणों को कम करने में मदद करता है। पालक हड्डियों को स्वस्थ रखने, ब्लड शुगर को संतुलित रखने में भी मदद करती है। [ये भी पढ़ें: स्तनपान के दौरान सामान्य ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए]

दूध: बहुत सी महिलाओं को कैल्शियम की कमी की समस्या होती है इसलिए हर उम्र की महिला को दूध पीना जरुरी होता है। दूध का सेवन अगर विटामिन डी के साथ किया जाए तो यह कैल्शियम का अच्छा स्त्रोत होता है। इसके साथ ही यह पीएमएस के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं।

साल्मन: साल्मन में सिर्फ आयरन ही नहीं बल्कि ओमेगा-3 फैटी एसिड भी होते हैं। यह मूड में सुधार लाने में मदद करता है। साल्मन में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड डिप्रेशन से बाहर आने में और मूड स्विंग से रोकथाम करने में मदद करता है।

फ्लैक्स सीड: फ्लैक्स सीड में ओमेगा-3 फैटी एसिड होते हैं जो हृ्दय को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसके साथ ही फ्लैक्स सीड में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए फ्लैक्स सीड्स का सेवन फायदेमंद होता है। [ये भी पढ़े: मेन्स्ट्रुअल साइकल के दौरान वेजाइनल डिसचार्ज में क्या बदलाव आते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "