पीरियड्स के दौरान होने वाले माइग्रेन के बारे में कितना जानते हैं आप

Read in English
everything you need to know about menstrual migraine

मेंस्ट्रुअल साइकल के दौरान महिलाओं को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।इस दौरान ब्लोटिंग क्रैंप, कमर में दर्द, पाचन में दिक्कत जैसी कई समस्याएं होती है। इन सबके अलावा महिलाओं को सबसे ज्यादा दिक्कत इस दौरान होने वाले माइग्रेन से होती है। माइग्रेन की वजह से सिरदर्द होता है। तेज रोशनी,शोर,अजीब सी गंध जैसी कई चीजें माइग्रेन के ट्रिगर हो सकते हैं। माइग्रेन की इस कंडीशन का संबंध पीरियड्स से होता है। यह पीरियड्स के दौरान शरीर में हार्मोन्स के असंतुलन की वजह से हो सकता है। तो आइए आपको पीरियड्स के दौरान होने वाले माइग्रेन के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आपकी वेजाइना स्वस्थ है]

मेंस्ट्रुअल माइग्रेन के कारण: पीरियड्स के दौरान शरीर में हार्मोनल बदलाव होते ही हैं। इन बदलावों के साथ एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर कम हो जाता है। इसके अलावा प्रोस्टाग्लैंडिंन( यह लिपिड का एक समूह होता है जो ऊतकों को नुकसान से हील करता है) भी रिलीज होने का स्तर कम हो जाता है। इन चीजों की वजह से मेंस्ट्रुअल माइग्रेन की समस्या होती है। हर महिला को यह दर्द कभी भी हो सकता है इसका कोई समय निर्धारित नहीं होता है।

मेंस्ट्रुअल माइग्रेन की दूर करने के उपाय: इस बात के बारे में पता होना जरुरी होता है हर महिला में माइग्रेन की कंडीशन अलग होती है। अगर आपको बहुत ज्यादा दर्द होता है तो डॉक्टर से सलाह ले लें। इसके अलावा कुछ उपायों की मदद से माइग्रेन को कम किया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: यौन स्वास्थ्य के संकेत जो महिलाओं को अनदेखा नहीं करना चाहिए]

स्वस्थ आहार का सेवन करें: आपकी डाइट आपके स्वास्थ्य को प्रभावित करती है। तो ध्यान रखें पीरियड्स के दौरान स्वस्थ डाइट का सेवन करें।

तनाव से दूर रहें: तनाव की वजह से माइग्रेन की समस्या हो सकती है। पीरियड्स के दौरान जीवन में तनाव ना होने दें।

मेडिटेशन: मेडिटेशन दिमाग को शांत रखने में मदद करता है। अगर आपको पीरियड्स के दौरान माइग्रेन की समस्या है तो मेडिटेशन करना ना भूलें। [ये भी पढ़ें: महिलाओं में फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए खाद्य पदार्थ]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "