ब्रा से जुड़े सामान्य मिथक जो हर महिला को जानने चाहिए

Read in English
common myths about bra you need to break today

जब भी इनरवियर, खासतौर पर ब्रा पहनने की बात आती है तो महिलाओं को कई तरह की सलाहें दी जाती हैं। ब्रा को लेकर बहुत से लोग बहुत सी बातें करते हैं और अधिकतर महिलाएं इन पर विश्वास भी कर लेती हैं, लेकिन क्या ये सभी बातें सच होती हैं? नहीं, इनमें से अधिकांश चीजें केवल कुछ प्रचलित मिथक हैं जिन पर आप एक समय से भरोसा करते आ रही हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि सच कुछ और ही है। आप हर रोज ब्रा पहनती हैं तो आपको इससे जुड़े मिथकों को भूलकर इनके पीछे के सच को जानना चाहिए। आइए जानते हैं ब्रा से जुड़े सामान्य मिथक ताकि आप सच से रुबरु हो सकें। [ये भी पढ़ें: ब्रा को कितनी बार धोना उचित है]

आपका ब्रा साइज हमेशा एक समान रहता है
common myths about bra you need to break todayयह मिथक लंबे समय से महिलाओं के दिमाग में होता है कि उनका ब्रा साइज सारी जिंदगी एक समान ही रहता है जबकि ऐसा नही हैं। आपका ब्रा साइज समय-समय पर बदलता रहता है। यह आपकी उम्र, वजन, हार्मोनल बदलाव आदि पर निर्भर करता है।

हर रोज ब्रा पहनने से ब्रेस्ट ढ़ीली हो सकती है
यह भी एक गलत अवधारणा है जो लोगों ने अपने दिमाग में बैठा ली है कि हर रोज ब्रा पहनने से महिलाओं की ब्रेस्ट ढ़ीली हो जाती हैं जबकि होता इसके विपरीत है। अगर आप ब्रा नहीं पहनती हैं तो इससे आपकी ब्रेस्ट के टिशू लूज होने लगते हैं और ब्रेस्ट ढ़ीली दिखाई देती हैं। इसलिए आपको दिन के समय में ब्रा पहननी चाहिए। [ये भी पढ़ें: अपने शरीर के अनुसार सही ब्रा का चुनाव कैसे करें]

ब्रा को हर रोज नहीं धोना चाहिए
common myths about bra you need to break todayऐसा कुछ नहीं है कि आप अपनी ब्रा को हर रोज नहीं धो सकती हैं। अगर आप ऐसा नहीं करती हैं तो इससे आपको कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। आपको बैक्टीरिया के संपर्क में आने से बचने के लिए हर रोज ब्रा को धोना चाहिए। इससे ब्रा से पसीना और अतिरिक्त तेल साफ हो जाता है।

ब्रा पहनने से ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावनाएं होती हैं
यह मिथक दो दशक से ज्यादा समय से प्रचलित हैं कि ब्रा पहनने से महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा होता है। ऐसा माना जाता है कि अधिक टाइट ब्रा पहनने से स्तनों के आसपास के लिम्फ नोड्स प्रतिबंधित हो जाते हैं, जिससे टॉक्सिन्स का उत्पादन होने लगता है जो कैंसर का कारण बनते हैं। हालांकि अध्ययन इस बात को नकारते हैं। अध्ययनों में पाया गया है कि ऐसे कोई वैज्ञानिक सबूत नहीं है जिनसे कहा जा सके कि ब्रा पहनने से ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावनाएं होती हैं।

ब्रा का साइज जानने के लिए स्टोर-फिटिंग बेहतर है
common myths about bra you need to break todayअगर आप ब्रा खरीदने जा रही हैं तो स्टोर-फिटिंग पर भरोसा ना करें। क्योंकि वहां आप हर बार अपना सही साइज जान पाएं, ऐसा नहीं होता। यह थोड़ा अजीब भी लगता है, साथ ही आपका समय भी लेता है। बेहतर है कि आप पहले सही साइज मापें और फिर खरीदारी करें। [ये भी पढ़ें: गलत साइज का ब्रा पहनने से होने वाले नुकसान]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "