दीपावली 2017: पटाखों से जल जाने पर प्राथमिक उपचार कैसे करें

deepawali-2017-how-to-treat-burn-cause-by-fireworks

दिवाली का पर्व खुशी और जश्न मनाने का समय है लेकिन हमारे समाज में पटाखे जलाने और आतिशबाजी करने का भी रिवाज है है। इस कारण दिवाली पर कोई दुर्घटना और चोट लगने की संभावनाएं भी होती हैं। पटाखे जलाते वक्त हाथ जलना सबसे आम समस्याओं में से एक है। बच्चे हो या वयस्क हम सभी पटाखे जलाने के लिए उत्तेजित होते हैं। इस दौरान अगर आप उचित सावधानी नहीं बरतते हैं तो आपको इसका परिणाम किसी दुर्घटना के रुप में हो सकता है। इसलिए ये जरुरी है कि आप कुछ सुरक्षा उपायों पर ध्यान दें। अगर पटाखों का इस्तेमाल करते वक्त आपका हाथ जल जाता है तो घबराएं नहीं और इसका प्राथमिक उपचार करें। आइए जानते हैं कि पटाखों से जल जाने पर प्राथमिक उपचार कैसे करें। [ये भी पढ़ें: दीपावली 2017: दिवाली पर अपनी सुरक्षा के लिए क्या करें]

हाथ जलने पर क्या करें

  • हाथ जल जाने के बाद 10-15 मिनट तक हाथ को पानी की टंकी के नीचे रखकर पानी चलाएं। इससे त्वचा से जलन कम होगी और त्वचा को ठंडक मिलेगी।
  • इसके बाद एंटीसेप्टिक मरहम लगाएं। इससे जली हुई त्वचा को तुरंत आराम मिलेगा।
  • आप जख्म को मेडिकल पट्टी से कवर कर सकते हैं ताकि यह सुरक्षित रहे। खुले घाव में संक्रमण होने का खतरा होता है।
  • यदि आप ऐसा करने में असमर्थ हैं या इसे खुला रहने दे। और डॉक्टर से परामर्श कर लें।
  • शरीर में संक्रमण के खतरे को रोकने के लिए टेटनस का इंजेक्शन लेना बेहतर होगा। [ये भी पढ़ें: दीपावली 2017: इस दिवाली वायु प्रदूषण से अपनी सुरक्षा कैसे करें]

हाथ जलने पर क्या ना करें

  • बहुत लोग जलने के बाद बर्फ लगाते हैं और सोचते हैं कि इससे उन्हें आराम मिलेगा। लेकिन आप ऐसा ना करें। इससे आपकी छिल सकती है।
  • कुछ लोगों जलने के बाद घाव पर टूथपेस्ट लगाने की सलाह देते हैं। ऐसा ना करें।
  • त्वचा पर अगर छाले हो गए हैं तो उन्हें छेड़े नहीं इससे आपको और जलन होगी।

घरेलू उपाय: इसके अलावा आप पटाखों से हाथ जल जाने के बाद कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। नीचे कुछ प्राकृतिक तरीके दिए गए हैं जो आपकी मदद कर सकते हैं।

दूध: आप जले हुए घाव पर ठंडा दूध डाल सकते हैं। यह त्वचा की जलन को शांत करने में मदद करेगा और राहत देगा। दूध त्वचा के लिए एक मेडिकल एजेंट के रुप में काम करता है। इसिलए दूध का उपयोग करना एक अच्छा विकल्प हो सकात है।

एलोवेरा जेल: एलोवेरा जेल जले हुए हिस्से का उपचार करने के बेहतर है। इससे त्वचा पर छाला बनाने की संभावना भी कम हो जाती है। जल जाने के बाद त्वचा और घाव को ठंडा करने के लिए एलोवेरा जेल लागू लगाना चाहिए। इसके लिए पहले अपने घाव को ठंडे पानी से धो लें और फिर उस पर एलोवेरा जेल की लगाएं।

इसके अलावा जले वाले हिस्से पर आलू का टुकड़ा और नारियल के तेल लगाने से भी त्वचा की जलन और इरिटेशन कम होती है। [ये भी पढ़ें: दिवाली 2017: मिठाई के इस त्योहार के दौरान वजन को कैसे नियंत्रित रखें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "