विश्व जल दिवस 2018: संकेत जो बताते हैं कि आप दूषित पानी का इस्तेमाल कर रहे हैं

world-water-day-2018-signs-your-water-may-be-contaminated

दूषित पानी पीना स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक होता है। इसे पीने के कारण आपको कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं। हालांकि दूषित पानी को उबाल कर या ब्लीचिंग पाउडर डालकर साफ किया जा सकता है लेकिन बहुत बार हमें यह पता नहीं चल पाता कि पानी दूषित है या नहीं? पीने के पानी में लेड, मर्करी जैसे हानिकारक तत्व घुले हुए होते हैं। दूषित पानी पीने से टाइफायड, डायरिया, पेचिश जैसी बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए साफ पानी पीना अच्छी सेहत के लिए सबसे जरुरी है। आइए जानते हैं कुछ संकेतों के बारे में जिनसे पता चलता है कि आप दूषित पानी पी रहें है। [ये भी पढ़ें: नींद की झपकी लेने के बाद होने वाले सिरदर्द से बचने के उपाय

1.क्लोरीन की गंध आना: अगर आपके पानी से क्लोरीन की गंध आ रही है तो उसे पीना हानिकारक हो सकता है। हालांकि क्लोरीन पानी को साफ करता है लेकिन बहुत ज्यादा क्लोरीन आंतों को नुकसान पहुंचाता है और इससे कई सारी बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए पानी साफ करने के लिए बहुत कम क्लोरीन का इस्तेमाल करना चाहिए और यदि पानी में क्लोरीन की गंध अधिक आ रही है तो ऐसे पानी को ना पिएं।

2. सल्फर की गंध आना: पानी की अशुद्धता का सूंघ कर भी पता लगाया जा सकता है। जमीन से निकलने वाले पानी में सल्फर होता है जिसकी कम मात्रा शरीर के लिए हानिकारक नहीं होती। हालांकि अधिक सल्फर युक्त पानी पीने से आंतों की बीमारी, डिहाइड्रेशन आदि हो सकती हैं। इसलिए अधिक सल्फर युक्त पानी का सेवन नहीं करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: बहुत ज्यादा थके हुए होने पर क्या चीजें ना करें]

3.पानी से बर्तनों का रंग बदल जाना: पीने के लिए जिस पानी का इस्तेमाल करते हैं उसी पानी का इस्तेमाल अगर आप बर्तन धोने के लिए भी करते हैं और अगर उससे सिल्वर रंग के बर्तनों का रंग तांबे जैसा हो जाता है तो पानी दूषित माना जाता है। इस पानी में आयरन की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जो कि सिल्वर को ऑक्सीडाइज करके उसका रंग बदल देती है। अत्यधिक आयरन युक्त पानी ना पीने की बजाय साधारण मात्रा में आयरन युक्त पानी पीना उपयोगी होता है।

4.पानी के उपर रंगीन बूंदों का होना: पानी पर रंगीन बूंदे पानी पर जमा तेल की परत के कारण होती है। तेल पानी में घुलता नहीं हैं और पानी से हल्का होने के कारण पानी की सतह पर बूंदों की एक परत बना लेता है। ऐसा पानी दूषित होता है। इस पानी को पीने से बचें और शुद्ध पानी ही पिएं।

5. शारीरिक संकेत: पेट में दर्द, उल्टी होना, दस्त लगने जैसे संकेत भी बताते हैं कि आप शुद्ध पानी नहीं पी रहे हैं। ऐसे में अपने पानी की जांच जरुर करवाएं और सही उपचार लें। [ये भी पढ़ें: नमक के पानी से गर्रारे करने से क्या फायदे होते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "