चाय के साथ क्यों ना करें दिन की शुरुआत

why you should not start your day with a cup of tea

कई लोग अपने दिन की शुरुआत बेड टी से करना पसंद करते हैं। बहुत से लोगों को दिन की शुरुआत करने के लिए चाय चाहिए होती है। चाय भी कई तरह की होती हैं। जैसे ब्लैक टी में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो इम्यूनिटी और मेटाबॉल्जिम को बूस्ट करने में मदद करता है। लेकिन जब आप अपने दिन की शुरुआत चाय से करते है तो यह कई तरीकों से आपके स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव डालता है। चाय में कैफीन होता है इसलिए इससे दिन की शुरुआत करना सही नहीं होता है। कभी भी कैफीन का सेवन खाली पेट नहीं करना चाहिए। कैफीन का सेवन करने से पहले आपको कुछ खा लेना चाहिए नहीं तो स्वास्थ्य समस्याएं होने की संभावन बढ़ जाती है। तो आइए आपको बताते हैं क्यों अपने दिन की शुरुआत चाय से नहीं करनी चाहिए। [ये भी पढ़ें: शरीर में पीएच संतुलन को बनाए रखने के लिए टिप्स]

ब्लोटिंग: चाय में मौजूद दूध की वजह से कई लोगों को ब्लोटिंग की समस्या होती है। ऐसा दूध में उच्च मात्रा में मौजूद लैक्टोज की वजह से होता है जो आपके खाली पेट को प्रभावित कर सकता है। जिसकी वजह से गैस और कब्ज की समस्या हो सकती है।

जी मिचलना: चाय में मौजूद कैफीन से आपके शरीर में तुरंत ऊर्जा आ जाती है लेकिन खाली पेट ज्यादा मात्रा में कैफीन का सेवन करने से जी मिचलना, चक्कर आना और असहज महसूस हो सकता है। इसलिए कभी खाली पेट चाय या कॉफी का सेवन ना करें। [ये भी पढ़ें: नारियल के तेल से होने वाले दुष्प्रभाव]

शरीर में पानी की कमी: चाय की प्रकृति डाइयूरेटिक होती है जिसका मतलब यह है कि यह शरीर से पानी को बाहर निकालती है। रातभर सोने की वजह से व्यक्ति के शरीर में पानी की मात्रा वैसे ही कम होती है और जब सुबह उठते ही आप चाय का सेवन करते हैं तो डिहाइड्रेशन बढ़ जाता है। डिहाइड्रेशन बढ़ जाने की वजह से शरीर में मिनरल असंतुलित हो जाते हैं जिसकी वजह से मांसपेशियों में दर्द होने लगता है।

मेटाबॉलिक गतिविधि को बाधित करती है: पेट में एसिड और एल्काइन की मात्रा असंतुलित होने की वजह से मेटाबॉलिक सिस्टम में बाधाएं उत्पन्न हो सकती हैं। जिसकी वजह से आपको पूरे दिन कार्य करन में दिक्कत हो सकती हैं। इसलिए दिन की शुरुआत चाय से ना करें।

ओरल हेल्थ के लिए हानिकारक: जब आप सुबह चाय का सेवन करते हैं तो मुंह में मौजूद बैक्टीरिया शुगर को ब्रेकडाउन कर देते हैं जिसकी वजह मुंह में एसिड का लेवल बढ़ जाता है जो दांतों के लिए हानिकारक हो सकता है। जिसकी वजह से मुंह में अधिक बैक्टीरिया उत्पन्न होने लगते हैं। [ये भी पढ़ें: दैनिक जीवन की कुछ आदतें जो आपके दिमाग को नुकसान पहुंचाती हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "