डिनर करने के तुरंत बाद सोना क्यों है गलत

Read in English
Why you should not fall asleep right after dinner

Pic Credit: iltalehti.fi

आजकल हर कोई व्यक्ति जल्दी में रहता है। किसी के पास खुद के लिए समय ही नहीं है। खासकर सुबह के समय हम सभी इतना जल्दी में होते है कि ज्यादातर नाश्ता छोड़ ही देते हैं। दिनभर में केवल रात का समय ऐसा होता है जब हम दिल की इच्छा के अनुसार भोजन कर पाते हैं। रात के समय वसा और कार्ब्स से भरपूर हैवी डिनर करने के बाद हर कोई जल्द से जल्द सोना चाहता है। ज्यादातर कामकाजी लोगों में यह सबसे आम आदत है। हालांकि, यह आदत आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत खतरनाक है। जब आप रात के खाने के तुरंत बाद सो जाते हैं तो आपकी पाचन प्रक्रिया प्रभावित होती है। इतना ही नहीं बल्कि डिनर करने के तुरंत बाद सोने से आपको कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आइए जानते हैं डिनर करने के तुरंत बाद सोना क्यों है गलत। [ये भी पढ़ें: एग वाइट आपके स्वास्थ्य के लिए कैसे है लाभकारी]

पेट में जलन
डिनर करने के बाद आपका शरीर खाने को पचाना शुरु कर देता है। इसके दौरान शरीर एसिड का उत्पादन करता है। अगर आप तुरंत सो जाते हैं तो इस एसिड के कारण आपको पेट में जलन की समस्या हो सकती है।

नींद को प्रभावित करता है
जब आप पेच भरने के तुरंत बाद सो जाते हैं तो आपका शरीर आपके द्वारा सेवन किए गए आहार को पचाना शुरु कर देता है। परिणामस्वरुप, आपका शरीर आराम नहीं पाता और आप सही प्रकार से नींद नहीं ले पाते हैं। इससे आपकी स्लीप क्वालिटी भी कम होती है। [ये भी पढ़ें: हमेशा पेट में ब्लोटिंग रहती हैं तो क्या कारण हो सकते हैं]

शुगर के स्तर में वृद्धि
डायबिटीज के रोगियों में यह समस्या अधिक देखने को मिलती है। डायबिटीज से ग्रस्त अगर कोई व्यक्ति खाना खाने के तुरंत बाद सो जाता है तो इससे उनके शरीर मे शुगर के स्तर में वृद्धि होती है। यह वृद्धि रोगी के लिए खतरनाक हो सकती है।

पाचन में परेशानी
डिनर करने के बाद आपका शरीर पाचन क्रिया में व्यस्त होता है। जब आप डिनर के तुरंत बाद सो जाते हैं तो कोई शारीरिक गतिविधि ना होने के कारण मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है और नतीजतन पाचन क्रिया भी धीमी हो जाती है। इससे खाना पचाने में दिक्कत होती है।

स्ट्रॉक का खतरा
पाचन क्रिया नें हो रहे इस बदलाव के कारण आपका समग्र शरीर प्रभावित होता है। इससे आपको हार्ट स्ट्रॉक और अन्य हृदय संबंधी परेशानियां हो सकती हैं। [ये भी पढ़ें: घर में इलेक्ट्रिक हीटर का इस्तेमाल करना क्यों उचित नहीं है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "