अत्यधिक ठंडा पानी पीना सेहत के लिए हो सकता है हानिकारक

why drinking cold water is bad for you

रिफ्रेश महसूस करने के लिए और गर्मी से सुकून पाने के लिए लोग ठंडा पानी पीना पसंद करते हैं। फ्रीज का ठंडा पानी या बर्फ वाला पानी पीने से आपको भले की रिफ्रेशिंग और अच्छा महसूस होता है लेकिन यह आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। सामान्य से कम तापमान वाला पानी आपके शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाता है लेकिन अत्यधिक ठंडा पानी या बर्फ वाला पानी शरीर के लिए हानिकारक होता है। ठंडे पानी से होने वाले नुकसान से बचने के लिए गर्म पानी पीने पर जोर दिया जाता है। गर्म पानी पीने से शरीर को नुकसान नहीं होते हैं। तो आइए जानते हैं कि अत्यधिक ठंडा पानी आपकी सेहत के लिए कैसे नुकसानदायक हो सकता है। [ये भी पढ़ें: घर पर गुलाब की पत्तियों से वाइन कैसे बनाएं]

1.सांस संबंधी परेशानी पैदा कर सकता है: अत्यधिक ठंडा पानी पीने से नेसल पैसेज में मौजूद म्यूकस ज्यादा गाढ़ा हो जाता है। एक अध्ययन के अनुसार यह पाया गया की गर्म पानी और सूप पीने से आसानी से सांस ली जा सकती है, जबकि ठंडा पानी पीने वाले लोगों को सांस लेने में थोड़ी मुश्किल होती है। ठंडा पानी पीने से सर्दी-जुकाम जैसी समस्या और भी गंभीर हो सकती है। ऐसे में गर्म पानी पीना ज्यादा लाभकारी होता है।

2.माइग्रेन में ना पिएं ठंडा पानी: माइग्रेन जैसी समस्या में अत्यधिक ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए। एक अध्ययन के अनुसार ठंडा पानी पीने से माइग्रेन की समस्या और गंभीर हो जाती है। इसके अलावा खाना खाने के साथ ठंडा पानी पीने से ग्रासनली(फूड पाइप) से भोजन अच्छी तरह से अंदर नहीं जा पाता है, इसलिए अत्यधिक ठंडा पानी ना पिएं। [ये भी पढ़ें: पेय पदार्थ जो सफर के दौरान जी-मिचलाना और उल्टी की समस्या को रोकते हैं]

3.पोषक तत्वों को अवरोधित कर देता है: मानव शरीर का सामान्य तापमान 37 डिग्री होता है। जब आप इससे कम तापमान का पानी पीते हैं तो शरीर को इस पानी का तापमान रेगुलेट करने के लिए अधिक ऊर्जा खर्च करनी पड़ती है। साथ ही अगर आप खाने के साथ ठंडा पानी पीते हैं तो आपका शरीर पोषक तत्वों को अवशोषित करने में ऊर्जा खर्च करने के बजाय पानी के तापमान को रेगुलेट करने में ऊर्जा खर्च कर देता है जिससे शरीर में पोषक तत्वों का अवशोषण नहीं हो पाता है।

4.हार्ट-रेट को कम करता है:  ठंडा पानी पीने से वेगस तंत्रिकाएं उत्तेजित हो जाती है जो कि नर्वस सिस्टम को नियंत्रित करने वाली तंत्रिका होती है। एक अध्ययन के अनुसार उत्तेजित वेगस तंत्रिकाएं दिल की धड़कन को कम कर सकती है, इसलिए ठंडा पानी पीने से बचें। [ये भी पढ़ें: पेय पदार्थ जिनका सेवन आपके लिए हानिकारक होता है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "