Diet for Lactose Intolerance: लैक्टोज इनटॉलेरेंस हैं तो कौन से खाद्य पदार्थो का सेवन

Read in English
Best Diet for Lactose Intolerance

Diet for Lactose Intolerance: लैक्टोज इनटॉलेरेंस हैं तो किन खाद्य पदार्थो का सेवन

Diet for Lactose Intolerance: लैक्टोज इनटॉलेरेंस का मतलब शरीर में लैक्टेज की कमी होना होता है जिसकी वजह से शरीर कई समस्याओं से ग्रसित हो जाता है और उन्हें लैक्टोज को पचाना मुश्किल हो जाता है। लैक्टोज इनटॉलेरेंस खातक नहीं होता है, लेकिन इसकी वजह से कई स्वास्थ्य समस्याएं हो जाती हैं जैसे- डायरिया, ब्लोटिंग, गैस और मिचली। यह समस्या बच्चों से अधिक व्यस्कों में देखने को मिलता है। ऐसे में डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करने से बचें। हालांकि डेयरी प्रोडक्ट्स में कैल्शियम और विटामिन होता है जो हड्डियों को मजबूत करता है और इनका सेवन बंद करने से आपको कई स्वास्थ्य समस्या हो सकती है क्योंकि शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। इसलिए आप कुछ ऐसे खाद्य पदार्थो का सेवन करें जो आपके शरीर को पोषक तत्व प्रदान करें। [ये भी पढ़ें: Reduce Body Ache Without Medication: बिना दवाईयों का सेवन करे शरीर का दर्द दूर करने के उपाय]

Diet for Lactose Intolerance: लैक्टोज इनटॉलेरेंस हैं तो किन खाद्य पदार्थो का सेवन

  • दही
  • हरी सब्जियां
  • चीज़
  • बादाम
  • सोय मिल्क

दही:

Diet, & Nutrition for Lactose Intolerance
Diet for Lactose Intolerance: लैक्टोज इनटॉलेरेंस हैं तो दही का सेवन करें

दही में लैक्टोज कम मात्रा में होती है और इस वजह से इसके सेवन से कोई समस्या नहीं होती है। दही में मौजूद गुड बैक्टीरिया आपको इसे आसानी से पचाने में मदद करता है। इसलिए यदि आप लैक्टोज इनटॉलेरेंस हैं तो आप दही का सेवन कर सकते हैं।

हरी सब्जियां:
हरी सब्जियों में प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स उच्च मात्रा में मौजूद होता है जो आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषण प्रदान करता है और लैक्टोज इनटॉलेरेंस वाले लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर करता है।

चीज़:
चीज़ में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन और कैल्शियम होता है जो शरीर को पोषण की कमी को पूरा करता है और कई स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता है।

बादाम:
बादाम में विटामिन-बी12, मैग्निशियम और फॉस्फोरस उच्च मात्रा में मौजूद होता है जो शरीर को एलर्जी से बचाता है और स्वास्थ लाभ भी प्रदान करता है। बादाम मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होता है और एनर्जी बूस्टर की तरह काम करता है।

सोय मिल्क:
सोय मिल्क में कैलोरी और लैक्टोज कम मात्रा में होती है। इसके अलावा सोय मिल्क में प्रोटीन, कैल्शिम और विटामिन भी होता है जो हड्डियों को मजबूत करता है और मांसपेशियों को ताकत प्रदान करता है। [ये भी पढ़ें: mosquito bites cause: किन कारणों से आपको ज्यादा मच्छर काटते हैं]

लैक्टोज इनटॉलेरेंस वाले लोगों को डेयरी प्रोडक्ट्स के सेवन से बचना चाहिए और उनके बदले अन्य पोषक तत्वों वाले खाद्य पदार्थो का सेवन करना चाहिए।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "