घुटनों में दर्द होने के पीछे क्या कारण होते हैं

Read in English
causes of knee pain

घुटनों मे दर्द (Knee Pain) कई वजहों से हो सकता है।

सभी लोग चाहते हैं कि वह हमेशा स्वस्थ रहते हैं। हालांकि ऐसा सभी के साथ नहीं हो पाता है। उम्र के साथ व्यक्ति का शरीर कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से ग्रसित हो जाता है। इन समस्याओं में से एक घुटने के दर्द की समस्या है।चलने, बैठने सभी चीजों के लिए आपको घुटनों की जरुरत होती है।कभी चोट लगने की वजह से घुटनों में दर्द की समस्या हो जाती है। चोट लगने के बाद होने वाले घुटनों का दर्द समय के साथ ठीक हो जाता है। लेकिन कई बाद यह दर्द लंबे समय तक रहता है जिसे ठीक होने में बहुत समय लगता है। तो आइए आपको घुटनों में दर्द होने के पीछे के कारण बताते हैं। [ये भी पढ़ें: यात्रा करते दौरान कब्ज की समस्या से खुद को कैसे बचाएं]

घुटनों में दर्द के कारण

घुटनों में तेज दर्द होने के कारण
लंबे समय से घुटनों में दर्द के कारण

घुटनों में तेज दर्द होने के कारण:

causes of knee pain
घुटनों में दर्द (Knee pain) के तेज दर्द के पीछे कई कारण हो सकते हैं।

1-फैक्चर: फैक्चर में आपके शरीर की हड्डियां टूट जाती है। जिनका प्रभाव घुटनों की हड्डियों पर पड़ता है। फैक्चर होने पर सूजन और बहुत ज्यादा दर्द होता है। फैक्चर होने पर डॉक्टर को तुरंत दिखाना जरुरी होता है।

2-स्प्रेंड या टॉर्न कोलेटेरल लिगामेंट: बाहरी दबाव की वजह से आपके घुटनों के कोलोटेरल लिगामेंट में चोट लग जाती है। इसमें घुटने में मोच भी शामिल हो सकता है। इसके लिए डॉक्टर की सलाह जरुर लें।

3- स्प्रेंड या टॉर्न क्रूशिएट लिगामेंट: स्प्रेंड या टोंड क्रूशिएट लिगामेंट की समस्या घुटनों में लग जाने की वजह से होती है। यह चोट दो तरह से लग सकती है।

लंबे समय से होने वाले दर्द के कारण:

causes of chronic knee pain
घुटनो में लंबे समय से होने वाले दर्द के पीछे कई कारण होते हैं।

1-ऑस्टियोआर्थराइटिस: जब घुटनों में उपास्थि डीजनरेशन से ग्रसित होता है तो ऑस्टियोआर्थराइटिस की समस्या हो जाती है। यह घुटनों का दर्द लंबे समय तक रहता है। इस दौरान थोड़ा सा भी चलने पर बहुत ज्यादा दर्द होता है। घुटनो में दर्द की समस्या को योगासन की मदद से ठीक किया जा सकता है। इनके बारे में जानने के लिए क्लिक करें।

गाउट: गाउट घटिया का ही एक प्रकार होता है। यह यूरिक एसिड के एकत्रित हो जाने की वजह से होता है। इसकी वजह से घुटनों में लालपन, दर्द और सूजन आ जाती है।

रियुमेटोइड अर्थराइटिस: रियुमेटोइड अर्थराइटिस एक ऑटोइम्यून डिजीज है जो शरीर के सभी जोड़ों को प्रभावित करता है। इसमें घुटनों के जोड़ शामिल होते हैं। इसकी वजह से घुटनों में दर्द, सूजन आ जाती है। यह शरीर के बाकि जोड़ों को भी प्रभावित करता है। [ये भी पढ़ें: खाद्य पदार्थ जिनका सेवन करने पर मल्टीविटामिन दवाएं खाने की जरुरत नहीं पड़ती]

घुटनों में दर्द होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। इनके बारे में पता करके खुद को स्वस्थ रखा जा सकता है। इस आर्टिकल को इंग्लिश (English) में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "