सांसों की बदबू को रोकने के लिए क्या करें और क्या ना करें

Read in English
things to do and avoid to prevent bad breath

आपके मुंह और दांतो से जुड़ी हाइजीन आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत जरुरी है। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको साँसों से आने वाली बदबू का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप सांसों से आने वाली दुर्गंध से परेशान है तो आपके लिए ओरल हाइजीन अधिक जरुरी है। अगर हर रोज दांतों को साफ करने के बाद भी आपके मुंह से बदबू आ रही है तो इसके पीछे आपकी कोई अस्वस्थ आदत हो सकती है। आपकी कुछ आदतों को बदलकर और अच्छी आदते अपनाकर आप इस बदबू से पीछा छुड़ा सकते हैं। सांसों में बदबू आने के लिए आपके मसूड़े और टिशू जिम्मेदार होते हैं। इसलिए इन्हें साफ रखे और जर्म्स से दूर रखें। कुछ चीजें करके और कुछ चीजों को ना करके आप इस बदबू से अपना पीछा छुड़ा सकते हैं। आइए जानते हैं सांसों की बदबू को रोकने के लिए क्या करें और क्या ना करें। [ये भी पढ़ें: कीटाणुओं से जुड़ी गलतफहमियां जो आपको जाननी चाहिए]

क्या करें:

पानी की पर्याप्त मात्रा में सेवन करें
अगर आप पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करते हैं तो इससे आपके सालिवा का फ्लो बढ़ता है साथ हीव डिहाईड्रेशन की समस्या भी नहीं होती। डिहाईड्रेशन के कारण भी आपकी सांसों से बदबू आने लगती है। इसलिए पानी का प्रचुर मात्रा में सेवन करें।

टूथब्रश को दो महीनों में बदल लें
अगर आप लंबे समय से एक ही ब्रश का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसके कारण भी आपके मुंह से अधिक बदबू आती है। इसलिए अपने टूथब्रश को हर दो महीने में बदल लें। [ये भी पढ़ें: सुबह उठने के तुरंत बाद पानी पीना क्यों लाभकारी होता है]

जीभ को भी साफ करें
अक्सर आप अपनी जीभ को अनदेखा कर देते हैं जिसके कारण आपके मुंह से बदबू आने लगती है। इसलिए हर रोज दांतो के साथ जीभ को भी साफ करें। इससे आपके मुंह की 70 प्रतिशत बदबू कम हो जाएगी।

क्या ना करें:

शुगर वाली मिंट या च्युइंगम का सेवन ना करें
आप मुंह की बदबू को दूर करने के लिए मिंट या च्युइंगम का सेवन करते हैं। इनमें शुगर शामिल होती है जिसके कारण आपके मुंह में बैक्टीरिया बढ़ जाते हैं और मुंह से अधिक दुर्गंध आती है।

एल्कोहल वाले माउथवॉश का इस्तेमाल ना करें
हर तरह के माउथवॉश में लगभग 27 प्रतिशत एल्कोहल होता है जो आपके मुंह की बदबू को बढ़ा देता है। साथ ही यह आपके मुंह को सुखा देता है। इसलिए माउथव़श खरीदने से पहले इसका लेबल चेक कर लें।

अधिक कॉफी का सेवन ना करें
अधिक कॉफी का सेवन करने से इसमें मौजूद कैफीन आपके मुंह में सालिवा का उत्पादन कम हो जाता है इसके कारण ओरल हाइजीन प्रभावित होती है। इसलिए कैफीन का सेवन कम कर दें। [ये भी पढ़ें: रोटी या ब्रेड किसका सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "