पानी पीने से जुड़े मिथक जिन्हें दिमाग से निकालना है बेहतर

Stop believing myths about drinking water

पानी पीने के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। पानी ना सिर्फ शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है बल्कि आपको कई प्रकार की बीमारियों से भी बचाता है। लेकिन बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं जिनको पानी के बारे में बहुत सी गलत बातें पता होती हैं। कई लोग ऐसे भी होते हैं कि जिनको ये तो पता होता है कि पानी फायदेमंद होता है लेकिन ये नहीं पता होता है कि जरूरत से ज्यादा पानी सेहत के लिए हानिकारक भी हो सकता है और इस वजह से लोग अपने लिए खतरा बढ़ा लेते हैं। इसके अलावा पानी और डिहाईड्रेशन से जुड़ी और भी कई गलत धारणाएं लोगों के मन में होती है। आइए जानते हैं पानी पीने से जुड़े मिथक जिन्हें दिमाग से निकालना आपके लिए बेहतर और लाभदायक होगा। [ये भी पढ़ें: वोदका के सेवन से क्या स्वास्थ्य लाभ होते हैं]

पानी त्वचा को मॉइस्चराइज बनाए रखने में मदद करता है:
आपने सुना होगा कि बहुत से पानी पीने से आपकी त्वचा निखरी और जवान हो सकती है। यह पूरी तरह से गलत नहीं है, लेकिन आंशिक रूप से गलत है। जितनी मात्रा में आप पानी पिते हैं उसके अनुसार आपके चेहरे में निखार आता है। पानी पीने से चेहरे में निखार आती है यह सोच कर लोग जरूरत से ज्यादा पानी पी लेते हैं, लेकिन यह पूरी तरह गलत है।

नारियल पानी पानी से ज्यादा शरीर को हाइड्रेट करता है:
बहुत से लोगों को ऐसा लगता है कि नारियल पानी पानी से बेहतर होता है। जैसे पानी शरीर को हाईड्रेटेड रखता है वैसे ही नारियल पानी भी करता है। हालांकि नारियल पानी में बहुत से पोषक तत्व होते हैं लेकिन जब बात हाईड्रेशन की आती है तो पानी सबसे बेहतर विकल्प होता है। [ये भी पढ़ें: खाद्य पदार्थ जो प्राकृतिक रुप से इंफेक्शन से लड़ने में करते हैं मदद]

ज्यादा पानी पीने से वजन कम होता है:
पानी पीने से वजन कम होता है, ऐसा जरूरी नहीं है। पानी शरीर से कैलोरी को कम करता है। पानी पीने से पेट लंबे समय तक भरा होता है और इस वजह से लोगों को जल्दी भूख नहीं लगती है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप खाना कम कर दें।

पीला पेशाब डिहाईड्रेशन का संकेत है:
कम पानी पीने की वजह से पीला पेशाब होता है। लेकिन ऐसा हमेशा हो ये जरूरी नहीं है, कभी-कभी डिहाईड्रेशन के कारण भी डार्क पीले रंग का पेशाब होता है। हमारा किडनी सभी अपशिष्ट पदार्थों को फ़िल्टर करता है और रक्त से पानी और अन्य पदार्थ को निकालता है। इससे किडनी पेशाब के उत्पादन को नियंत्रित करता है। [ये भी पढ़ें: कॉफी में किन चीजों को मिलाना हो सकता है हानिकारक]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "