Eat Fat: संकेत कि आपको ज्यादा फैट का सेवन करने की जरुरत होती है

Read in English
you need to eat more Fat

eat more Fat: शरीर पर कुछ संकेत दिखने लगे तो फैट का अधिक सेवन करना शुरु कर देना चाहिए।

स्वस्थ रहने के लिए फैट का सेवन करना भी जरुरी होता है। स्वस्थ रहने के लिए हर पोषक तत्व का सेवन जरुरी होता है। मगर फिर भी लोग डाइट्री फैट का सेवन नहीं करते हुए नॉन-फैट डेयरी प्रोडक्ट और अंडे के सफेद भाग का सेवन करना सही समझते हैं। शरीर में फैट की मात्रा कम होने की वजह से पाचन में समस्या, ब्लड शुगर अनियमित होने जैसी कई समस्याएं होने लगती हैं। स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से बचने के लिए सही मात्रा में फैट का सेवन करना भी जरुरी होता है। लिनोलेइक एसिड और अल्फा लिनोलेनिक एसिड जैसे महत्वपूर्ण फैट का शरीर उत्पादन नहीं कर पाता है इसके लिए फैट के स्त्रोतों का सेवन करना जरुरी होता है। जब आप सही मात्रा में फैट का सेवन नहीं करते हैं तो उसे शरीर पर कुछ संकेतों की मदद से देखा जा सकता है। तो आइए आपको उन संकेतों के बारे में जिससे पता चलता है कि आप फैट का सही मात्रा में सेवन नहीं कर रहे हैं। [ये भी पढ़ें: अपने शरीर के फैट पर्सेंटेज को कैसे मांपे]

Eat Fat:फैट का सही मात्रा में सेवन ना करने के संकेत

वजन कम होना रुक जाना
लगातार भूख लगना
ऊर्जा की कमी
बेजान त्वचा
खराब पाचन

वजन कम होना रुक जाना:

signs you need to eat fat
warning signs: अगर वजन कम होना बंद हो गया है तो फैट का सेवन बढ़ा दें।

वजन कम करने के लिए फैट का सेवन भी जरुरी होता है। फैट का सेवन बढ़ाकर और कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम करके आपको कम भूख लगती है। पॉलीअनसेचुरेटिड फैटी एसिड का सेवन करने से मेटाबोलिक रेट बढ़ जाती है जिससे कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती है।

लगातार भूख लगना: उच्च मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन जैसे वाइट ब्रेड और पास्ता खाने से आपको एक घंटे बाद ही भूख लग जाती है। यह ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ा देते हैं। जब आप डाइट्री फैट का सेवन करते हैं तो इससे भूख कम लगीत हैं। क्योंकि यह फैट आपकी भूख को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। [ये भी पढ़ें: Healthy Snacks: भूख को कम करने के लिए स्नैक्स]

ऊर्जा की कमी: उच्च मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन आपके ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ा देता है जिससे शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती है। लेकिन जब आप कार्बोहाइड्रेट के साथ फैट का सेवन करते हैं तो फैट पाचन की प्रक्रिया को धीमा बना देता है जिससे इंसुलिन सेंसिटिविटी में सुधार होता है और ब्लड शुगर का लेवल संतुलित रहता है।

बेजान त्वचा:

Eat more fat
फैट का सही मात्रा में सेवन ना कपने की वजह से त्वचा बेजान हो जाती है।

फैटी एसिड की कमी की वजह से त्वचा शुष्क हो जाती है। विटामि ए, डी ई और के फैट सॉल्यूबल विटामिन हैं जो लुब्रिकेशन को नियमित करने में मदद करते हैं। लेकिन जब आप फैट का सेवन कम कर देते हैं या बंद कर देते हैं तो इससे त्वचा शुष्क और बेजान हो जाती है। [ये भी पढ़ें: बेजान त्वचा की देखभाल कैसे करें]

खराब पाचन: प्रोटीन का ज्यादा मात्रा में सेवन और फैट का सेवन ना करने की वजह से आपको पाचन में समस्या होने लगती है। ऐसा हानिकारक बैक्टीरिया के सेवन की वजह से होता है।

[जरुर पढ़ें: 10 दिन में चेहरे से फैट कैसे कम करें]

फैट का सेवन भी जरुरी होता है। अगर आप इसका सेवन नहीं करते हैं तो कुछ संकेत आपके शरीर पर दिखने लगते हैं। इस आर्टिकल को इंग्लिश(English)में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "