slow metabolism: मेटाबॉलिज्म के धीमा होने के संकेत

slow metabolism: मेटाबॉलिज्म के कम होने के कारण कई संकेत दिखाई देते हैं।

slow metabolism: स्वस्थ मेटाबॉलिज्म खाने को तेजी से पचाता है जिससे आपको पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा मिलती रहती है। मेटाबॉलिक रेट अधिक होने पर खाना ना पचने जैसी समस्या नहीं होती है और इससे ऊर्जा की कमी भी महसूस नहीं होती है। कुछ लोगों में प्राकृतिक रुप से मेटाबॉलिज्म कम होता है तो कई बार अनहेल्दी आदतों, अस्वास्थ्यवर्धक खाद्य पदार्थों का सेवन करने से भी मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाती है। इसलिए इन आदतों को छोड़ देना ही बेहतर होता है। कुछ संकेतों की मदद से जान सकते हैं कि आपका मेटाबॉलिज्म धीमा हो रहा है। आइए जानते हैं कि उन संकेतों के बारे में जो बताते हैं कि आपका मेटाबॉलिज्म धीमा है।[ये भी पढ़ें:  मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने के लिए खाद्य पदार्थ ]

slow metabolism:  मेटाबॉलिज्म के धीमा होने के संकेत

  • मोटापा बढ़ना
  • हार्मोन्स का असंतुलित होना
  • गैस और ब्लोटिंग
  • वजन ना कम कर पाना
  • बार-बार भूख लगाना

1.मोटापा बढ़ना-
मेटाबॉलिज्म धीमा होने से आसानी से खाना पच नहीं पाता है जिससे वजन बढ़ने की समस्या पैदा हो जाती है। थोड़ा-सा भी खा लेने पर आपको वजन बढ़ने की समस्या हो जाती है और पेट के आसपास की चर्बी बढ़ रही है तो यह संकेत बताता है कि मेटाबॉलिज्म धीमा है।

2. हार्मोन का असंतुलित होना-
मेटाबॉलिज्म के धीमा होने से हार्मोन्स का बैलेंस भी बिगड़ जाता है। इससे बालों का पतला होना और त्वचा के रुखे होने की समस्या पैदा हो जाती है।[ये भी पढ़ें:  Hormone imbalance: हार्मोन असंतुलन के संकेत ]

3. गैस और ब्लोटिंग-

slow metabolism can cause bloating
slow metabolism: ब्लोटिंग का कारण मेटाबॉलिज्म का धीमा होना होता है

आपको खाने के बाद अक्सर गैस, ब्लोटिंग, जी जलन, पेट दर्द, थकान आदि की समस्या का सामना करना पड़ता है।

4. वजन कम ना कर पाना-
मेटाबॉलिज्म धीमा होने पर आप तमाम तरह की एक्सरसाइज करके और डाइट प्लान फॉलो करके भी वजन कम नहीं कर पाते हैं। क्योंकि ऐसे में आप जो भी खाते हैं वह बहुत धीरे-धीरे पचता है जिससे आप चाहकर भी वजन कम नहीं कर पाते हैं।[ये भी पढ़ें:  Weight loss: वजन घटाने के दौरान अपने पेट को लंबे समय तक भरा कैसे रखें ]

5. बार-बार भूख लगाना-
मेटाबॉलिज्म धीमा होने से ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है जिससे बार-बार भूख लगने की समस्या पैदा हो जाती है। साथ ही ऊर्जा की कमी भी महसूस होती है।

[जरुर पढ़ें: कौन सा बारबेल एक्सरसाइज मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है ]

ये सभी मेटाबॉलिज्म के धीमा होने के संकेत होते हैं। इन्हें अनदेखा ना करें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "