संकेत जो बताते हैं कि आप जरुरत से कम खा रहे हैं

Signs that indicate that you are eating less than you need

pc: careguru.in

ज्यादा खाने से शरीर पर बुरा असर पड़ता है ये बात सब जानते हैं लेकिन कम खाना भी आपके शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकता है। अगर आप वजन कम करने के लिए डायटिंग कर रहें है तो भी ध्यान रखें की खाने की एक जरुरी मात्रा आपके शरीर में जरुर पहुंचें अगर ऐसा नहीं होता तो आपको कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इससे आपके शरीर में माइक्रोन्यूट्रेंट्स और कैलोरी की कमी हो जाती है जो आपके शरीर पर ये कुछ दुष्प्रभाव डाल सकती हैं।[ये भी पढ़ें: नवरात्र स्पेशल: व्रत में सेंधा नमक का सेवन क्यों फायदेमंद है]

1. कब्ज होना: अगर आप जरुर से कम खा रहें हैं तो आपको कब्ज जैसी परेशानी हो सकती है, क्योंकि आप मल बनने के लिए पर्याप्त मात्रा में जरुरी भोजन का सेवन नहीं कर रहे हैं। कम खाने से आपके थाइरॉइड ग्रंथि के क्रिया-कलाप पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है क्योंकि पाचन क्रिया को सुचारु रखने के लिए थाइरॉइड हार्मोन आवश्यक होता है।

2. लगातार भूख लगना: लगातार भूख लगना इस बात का संकेत है कि आप जरुरत से कम खा रहे हैं। इसलिए आपका दिमाग तनाव का शिकार हो सकता है इसलिए शरीर को सही मात्रा में ऊर्जा देने के लिए पर्याप्त कैलोरी इंटेक जरुर करें।

3. बालों का झड़ना: अगर आपके बाल जरुरत से ज्यादा झड़ रहे हैं तो ये आपके शरीर में बायोटिन, प्रोटीन और आयरन तत्वों की कमी हो जाती है। इसलिए अगर आपके बाल अत्यधिक झड़ रहे हैं तो आप अपने भोजन पर ध्यान जरुर दें।[ये भी पढ़ें: सैनेटाइजर का बहुत ज्यादा इस्तेमाल नुकसानदायक क्यों है]

4. आपको हर समय सर्दी लगी रहती है: खाना खाने से ऊर्जा पैदा होती है जो हमारे शरीर का सामान्य तापमान बनाए रखती है। आपका शरीर खाना पचाता है और ऊर्जा पैदा करता है लेकिन कम भोजन करने से थर्मोजेनेसिस क्रिया धीमी हो जाती है इसलिए अगर आपको लगे की आपको रोजाना सर्दी रहती है तो अपनी डाइट पर ध्यान दें।

5. ब्लड शुगर के लेवल का घटना-बढ़ना: अपर्याप्त मात्रा में कैलोरी का सेवन करने से आपके रक्त में ब्लड शुगर का लेवल घटता- बढ़ता रहता है। वे लोग जो कम कैलोरी खाते हैं उनका ब्लड शुगर लेवल आमतौर पर कम हो जाता है। जिससे चक्कर आना, असमंजस में रहना, आलसीपन आदि जैसी परेशानियां आने लगती है। इससे आपका मेटाबोलिज्म भी कम हो जाता है, जिससे आप हमेशा थके हुए महसूस करते हैं।

6. गुस्सा और चिड़चिड़ाहट: आपके मूड के लगातार बदलना भी इसी कारण हो सकता है इससे आप गुस्सैल और चिड़चिड़े बने रह सकते हैं। इससे आपका ब्लड शुगर लेवल कम हो सकता है, जो कि दिमाग के सही तरह से काम करने के लिए आवश्यक होता है। ब्लड शुगर का लेवल जरुरत से कम होने आप तनाव, डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं। [ये भी पढ़ें: नवरात्र स्पेशल: व्रत के दौरान नाश्ते में क्या खाना होगा बेहतर]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "