नियम जिन्हें अपनाने से डाइटिंग के प्रभाव को बढ़ाया जा सकता है

Read in English
rules that you should opt to increase dieting effect

वजन घटाने या बढ़ाने के अलावा संपूर्ण और पोषक डाइट शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करती है। हालांकि पोषक और अनुशासित डाइट को बरकरार रखना किसी के लिए भी थोड़ा सा मुश्किल काम है, लेकिन इसकी नियमितता के कई स्वास्थ्यवर्धक लाभ होते हैं। पोषक और संतुलित डाइट अपनाने से आपका मेटाबॉलिज्म रेट, हृदय स्वास्थ्य, रक्त प्रवाह और रक्त-चाप संयमित रहता है। लेकिन पोषक और संतुलित डाइट के प्रभावों को बनाने के लिए कुछ नियमों का पालन करना जरुरी होता है। आइये जानते हैं कि कौन से नियमों को अपनाने से डाइटिंग के प्रभाव को बढ़ाया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: अदरक और शहद से बने टॉनिक से होने वाले स्वास्थ्य लाभ]

प्रोटीन:
rules that you should opt to increase dieting effect डाइट में प्रोटीन का होना काफी जरुरी है, इसलिए प्रोटीन का सही मात्रा में सेवन करें। व्यक्ति को अपने शरीर के प्रतिकिलोग्राम वजन के अनुसार 2 ग्राम प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। चिकन, मछली, ग्रीक योगर्ट, अंडा, लो फैट चीज जैसे खाद्य पदार्थों से पर्याप्त प्रोटीन प्राप्त किया जा सकता है। अगर आप प्रोटीन सप्लीमेंट का सेवन करना चाहते हैं, तो वर्कआउट के बाद करना बेहतर होगा।

फैट: अधिकतर लोग मानते हैं कि स्वस्थ डाइट में फैट की मात्रा नहीं होनी चाहिए। लेकिन फैट कई प्रकार के होते हैं, जिसमें से अच्छे फैट मतलब अनसैचुरेटेड फैट का सेवन करने से वर्कआउट के दौरान शरीर को पर्याप्त ऊर्जा मिलती है। अनसैचुरेटेड फैट का सेवन करने के लिए डाइट में एवोकाडो, ऑलिव ऑयल, नट्स और मछली का सेवन कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: रोजाना कितने ग्राम फैट का सेवन करना चाहिए]

कार्बोहाइड्रेट: स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने से शरीर को ऊर्जा, मिनरल मिलते हैं और इसके साथ ही मसल्स रिकवरी और हार्मोनल संतुलन बेहतर बनता है और वर्कआउट में बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। इसे प्राप्त करने के लिए डाइट में सेब, केला और दालों को शामिल किया जा सकता है।

विभिन्न खाद्य पदार्थ खाएं: विभिन्न खाद्य पदार्थों को खाने से आपको सभी मिनरल, विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और फाइबर के साथ कई छोटे-छोटे पोषक और जरुरी तत्व प्राप्त होते हैं। जिससे शरीर का संपूर्ण स्वास्थ्य बेहतर बनता है। ध्यान रखें कि विविधता अपनाने से बेहतर परिणाम मिलता है।

सब्र रखें: कई लोग किसी डाइट प्लान को अपनाते हुए छोटी-छोटी चीज, कैलोरी और प्रोटीन काध्यान रखते हुए इतना गंभीर हो जाते हैं कि उन्हें लगता है परिणाम नहीं मिल पा रहा है और दूसरे डाइट प्लान को या तरीके को अपना लेते हैं। दरअसल कोई भी डाइट प्लान एक दिन में फर्क दिखाना शुरू नहीं करती है, इसलिए सब्र रखें और आपको नतीजा दिखना शुरू हो जाएगा। [ये भी पढ़ें: सर्दियों के मौसम में खुद को स्मॉग से कैसे बचाएं]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "