कैलोरी का कम सेवन करने से भी हो सकते हैं नुकसान

Read in English
restricted intake of calories can be harmful for your health

जब भी लोग वजन कम करने की योजना बनाते हैं तो सबसे पहले वो जो कैलोरी का सेवन कम कर देते हैं। लो कैलोरी डाइट और हाई कैलोरी फूड्स का सेवन बंद कर देते हैं और यह जरुरी भी है। अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो कैलोरी का नियंत्रित मात्रा में सेवन करना जरुरी है। कैलोरी का सेवन सीमित करना एक अच्छी आदत है लेकिन अत्यधिक सीमित मात्रा में कैलोरी का सेवन करने से भी आपको नुकसान हो सकते हैं। ऐसा करने से आपका मेटाबॉलिक रेट कम गिरने लगता है जिससे आप दिनभर की गतिविधियां नहीं कर पाते हैं और थकान भी महसूस होने लगती है। इसके अलावा कम कैलोरी का सेवन आपके शरीर में कई हानिकारक बदलाव ला सकता है। आइए जानते हैं कैलोरी का कम सेवन करने से क्या नुकसान सकते हैं। [ये भी पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आपके शरीर में अधिक तरल पदार्थ एकत्र हो गए हैं]

मेटाबॉलिक दर कम हो जाती है
हर रोज शरीर की जरुरत के हिसाब से कम कैलोरी का सेवन आपके शरीर की मेटाबॉलिक दर को कम कर सकता है। शोध बताते हैं कि लो कैलोरी डाइट लेने से आप 23 प्रतिशत तक कम कैलोरी बर्न कर पाते हैं। साथ ही आपका मेटाबॉलिक रेट कैलोरी का सीमित सेवन बंद कर देने पर भी लंबे समय तक प्रभावित रहता है।

पोषण की कमी
कैलोरी का सीमित मात्रा में सेवन करने से आपके शरीर में पोषण की कमी भी हो सकती है। अगर आप कैलोरी का कम सेवन करने के लिए खाना कम खाते हैं तो इससे आपको पर्याप्त मात्रा में विटामिन और मिनरल नहीं मिल पाते हैं जिससे आपको कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। [ये भी पढ़ें: आदतें जो किडनी को नुकसान पहुंचा सकती हैं]

हड्डियां कमजोर होना
अगर आप कैलोरी का सीमित मात्रा में सेवन करते हैं तो आपके शरीर में एस्ट्रोजेन और टेस्टोस्टेरोन जैसे हार्मोन का स्तर कम हो जाता है। इन हार्मोन में कमी होने से आपके शरीर में बोन फॉर्मेशन कम हो जाता है, साथ ही हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। इसलिए जरुरी मात्रा में कैलोरी का सेवन करें।

थकावट
कैलोरी का सेवन करने से हमारा शरीर इसका इस्तेमाल उर्जा के रुप में करता है। जब आप ना के बराबर या बहुत कम मात्रा में कैलोरी का सेवन करते हैं तो इससे आपका शरीर पर्याप्त मात्रा में उर्जा नहीं प्राप्त करता है जिससे आपको हर समय थकावट महसूस होती है।

आपकी फर्टिलिटी को भी करता है प्रभावित
कैलोरी का सीमित सेवन आपकी फर्टिलिटी को भी प्रभावित करता है। महिलाओं को ओव्यूलेट करने के लिए ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन की आवश्यकता होती है और कैलोरी का कम सेवन इस हार्मोन के उत्पादन को नकारात्मक रुप से प्रभावित करता है। [ये भी पढ़ें: एंटी-बैक्टीरियल साबुन के इस्तेमाल से हो सकते हैं नुकसान]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "