बार-बार पेशाब आने के पीछे क्या कारण हो सकते हैं

reasons you need to pee all the time

अगर हर घंटे कई बार पेशाब करने जाना पड़ता है तो इससे व्यक्ति परेशान होने लगता है। हर बार ऐसा होने पर परेशान होना जायज भी है। यह समस्या रात को भी हो सकती है, लोगों को रात को उठकर बार-बार पेशाब करने जाना पड़ता है। कभी-कभी बहुत जल्दी पेशाब जाने के पीछे का कारण मेडिकल समस्याएं हो सकती हैं। जिसे हल्के में लेना गलत होता है क्योंकि यह समस्याएं गंभीर भी हो सकती है। जिसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। तो आइए आपको उन कारणों के बारे में बताते हैं जो बार-बार पेशाब जाने के पीछे होते हैं। [ये भी पढ़ें: यूरिन संबंधी समस्याएं जो बताती हैं कि आपको किडनी स्टोन हो सकते हैं]

बहुत ज्यादा पानी पी रहे हैं: जब आप सही मात्रा में पानी नहीं पीते हैं तो पेशाब गाढ़ा हो जाता है जिसकी वजह से ब्लैडर में जलन होती है जो पेशाब करते समय आपको महसूस होती है। जब आप ज्यादा मात्रा में पानी पीते हैं तो पेशाब पतला होता है जिसकी वजह से ब्लैडर में जलन नहीं होती है। जब आप ज्यादा पानी पीते हैं तो ब्लैडर भर जाता है और आपको बार-बार पेशाब करने जाना पड़ता है।

डायबिटीज: बार-बार ज्यादा मात्रा में पेशाब करने जाना डायबिटीज टाइप 1 और टाइप 2 के लक्षण होते हैं। ऐसा शरीर में अत्यधिक मात्रा में मौजूद ग्लूकोज को कम करने के लिए किया जाता है। शरीर से ग्लकूोज को पेशाब के माध्यम से निकालते हैं। अत्यधिक शुगर खून और किडनी में एकत्रित हो जाती है जो शुगर को अवशोषित करती है। अगर ऐसा नहीं हो पाता है तो अत्यधिक शुगर पेशाब में उत्सर्जित हो जाती है और बाहर निकल जाती है। जिसकी वजह से डिहाइड्रेशन की समस्या होती है। [ये भी पढ़ें: रात को उठकर बार-बार पेशाब करने क्यों जाना पड़ता है]

किडनी में पथरी: किडनी में पथरी की वजह से ब्लैडर में जलन होती है। यह तब होता है जब पथरी यूरिनरी ट्रैक्ट से होती हुई ब्लैडर में चली जाती है। ब्लैडर में जलन की वजह से आपको बार-बार पेशाब आता है। पथरी के दौरान पेशाब करते समय जलन और दर्द होता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान: प्रेग्नेंसी के शुरुआत में महिलाओं के शरीर में कई हार्मोनल बदलाव होते हैं जिसकी वजह से बार-बार पेशाब आता है। प्रेग्नेंसी के पहली तिमाही के दौरान ज्यादा पेशाब होता है। प्रेग्नेंसी में कुछ समय बाद गर्भाशय का आकार बढ़ जाता है जिसकी वजह से ब्लैडर पर दबाव पड़ता है और बार-बार पेशाब आता है। यह मां और बच्चे दोनों के लिए हानिकारक नहीं होता है।

ज्यादा चिंतित होना: बहुत से लोगों के चिंतित होने पर बार-बार पेशाब आता है। आमतौर पर ब्लैडर तब तक बढ़ता है जब तक वह पूरी तरह भर नहीं जाता है। जब वह पूरी तरह भर जाता है तो वह दिमाग को संकेत भेजता है उसके बाद आप पेषाब करने जाते हैं। यह एक सामान्य प्रक्रिया है लेकिन जब आप चिंतित होते हैं तो ब्लैडर ज्यादा सक्रिय हो जाता है और आपको बार-बार पेशाब करने जाना पड़ता है। [ये भी पढ़ें: खाद्य पदार्थ जिनकी वजह से गैस की समस्या होती है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "