कमर के निचले हिस्से में होने वाले दर्द का क्या कारण है

Reasons you are suffering from lower back pain

कमर के निचले हिस्से में बहुत से लोगों को दर्द रहने की समस्या होती है और उन्हें इसके सही कारण के बारे में नहीं पता होता है। यह शुरूआत में तो एक छोटी समस्या होती है लेकिन अगर सही समय पर इसका इलाज नहीं किया जाएगा तो यह समस्या बड़ी हो सकती है और इसकी वजह से लोगों को बहुत असहजता महसूस होती है। कमर दर्द की समस्या सिर्फ बुजुर्गो को ही नहीं होती है बल्कि इस समस्या से हर कोई ग्रस्त रहता है। जो लोग दिनभर ऑफिस में रहते हैं उन्हें अक्सर इस समस्या की शिकायत रहती है क्योंकि उन्हें पूरे दिन बैठकर काम करना पड़ता है। इसके अलावा कुछ ऐसी स्वास्थ्य समस्याएं भी होती हैं जिसकी वजह से लोगों को कमर के निचले हिस्से में दर्द की समस्या होती है। आइए जानते हैं कमर के निचले हिस्से में होने वाले दर्द का क्या कारण है। [ये भी पढ़ें: दिन में कितने कप ग्रीन टी का सेवन होता है उचित]

कमर के पास अत्यधिक वजन होना:
कमर के पास अत्यधिक वजन और चर्बी होने की वजह से कमर के निचले हिस्से में दर्द होता है। अतिरिक्त वजन होने की वजह से पेल्विक बढ़ता है और कमर के निचले हिस्से पर दबाव डालता है। यही कारण है कि गर्भवती महिलाएं भी पीठ और कमर दर्द से पीड़ित होती हैं।

भारी वजन उठाने की वजह से:
आपकी कमर के निचले हिस्से की मांसपेशियों, लिगामेंट्स और टेंडन्स में किसी चोट लगने, अचानक मूवमेंट होने, बेकार पोस्चर और खेलते वक्त लगी चोट के कारण दर्द हो सकता है। यह दर्द गंभीर भी हो सकता है। [ये भी पढ़ें: स्वास्थ्यवर्धक बीज जो आपकी सेहत के लिए हैं फायदेमंद]

पेल्विक इंफ्लेमेट्री डीजिज:
पेल्विक इंफ्लेमेट्री डीजिज(पीआईडी) बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण होता है। इस वजह से पेट के निचले हिस्से में और कमर के निचले हिस्से में दर्द की समस्या होती है। इसकी वजह से बुखार, उल्टी और डायरिया की समस्या होती है।

किडनी डीजिज:
किडनी में इंफेक्शन होने की वजह से भी कमर के निचले हिस्से में और एब्डोमेन के निचले हिस्से में दर्द की समस्या हो जाती है। इसके दौरान पेशाब जल्दी-जल्दी होने लगती है और साथ ही पेशाब करते वक्त जलन भी होने लगती है। ऐसा महसूस हो तो डॉक्टर से सम्पर्क जरूर करें।

पैन्क्रियाटाइटिस:
कमर के निचले हिस्से में दर्द होने की वजह से पैनक्रिया में सूजन हो जाती है। खाते वक्त इस दर्द का एहसास अत्यधिक महसूस होता है। [ये भी पढ़ें: पुराने दर्द से राहत पाने के लिए ड्रग रहित उपाय]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "