पॉटी जाने से जुड़ी आदतें जो आपको जाननी चाहिए

Read in English
Pooping habits you must know

आपके शरीर का हर हिस्सा आपके स्वास्थ्य के लिए जिम्मेदार होता है। अगर आप किसी भी हिस्से को अनदेखा कर देते हैं तो इसका असर आपके संपूर्ण स्वास्थ्य पर दिखता है। आपकी हर आदत आपके स्वास्थ्य के प्रभावित करती है, चाहे फिर यह अच्छी आदत हो या बुरी। आपकी पॉटी करने से जुड़ी कुछ आदते भी आपके स्वास्थ्य की ओर कुछ इशारे करती हैं जिनसे शायद ही आप वाकिफ होते होंगे। हालांकि लोग सामान्य तौर पर पॉटी से जुड़ी चीजों के बारे में बाते करना ही पसंद नहीं करते लेकिन आपको पता होना चाहिए कि यह भी आपके शरीर का एक हिस्सा है जो आपके स्वास्थ्य को सुधार भी सकता है और बिगाड़ भी सकता है। इसलिए इसे अनदेखा ना करें। आइए जानते हैं वो पॉटी जाने से जुड़ी आदतें जो आपको जरुर जाननी चाहिए।[ये भी पढ़ें: गाने सुनने से क्या स्वास्थ्य लाभ होते हैं]

जरुरी नहीं कि दिन में एक बार ही जाएं
औसतन देखा जाए तो लोग दिन में एक या दो बार ही पॉटी जाते हैं लेकिन ऐसा जरुरी नहीं है। अगर आपको पेट में कोई परेशानी महसूस नहीं हो रही है और आप सहज महससू कर रहे हैं तो इसमें कोई समस्या नहीं कि आप दिन में दो या तीन बार पॉटी जा सकते हैं।

रेगुलर होना अच्छी आदत है
अगर आप हर रोज एक ही समय पर पॉटी जाते हैं तो यह एक अच्छी आदत है और आपका पाचन तंत्र स्वस्थ है। अगर ऐसा नहीं है तो भी चिंता की बात नहीं है क्योंकि आप दिन में किसी भी समय जा सकते हैं। हालांकि एक्सपर्ट कहते हैं कि अधिकतर लोग सुबह के समय में ही पॉटी जाते हैं। [ये भी पढ़ें: खाले पेट शहद का सेवन करने के फायदे]

खाने के तुरंत बाद पॉटी जाना कोई समस्या नहीं
अगर भोजन करने के तुरंत बाद आपको महसूस होता है कि आपको वॉशरुम जाने की जरुरत है तो यह सामान्य है। इसमें परेशान होने वाली कोई बात नहीं। भोजन के बाद अगर आपको पॉटी जाना होता है तो आप वो भोजन नहीं निकालते हैं जो आपने तुरंत खाया है इसलिए आपके शरीर के पास उस भोजन के पोषण को अवशोषित करने का काफी समय होता है।

पीरियड्स के कारण कई बार पॉटी जाना हो सकता है
पीरियड्स के दौरान आपको क्रैम्प्स और ब्लोटिंग आदि होती हैं। इस दौरान आपका यूटेरस संकुचन करता है और साथ ही ह संकुचन आपके बोवेल तक पहुंच सकता है जिसके कारण अधिक बोवेल मूवमेंट्स हो सकते हैं। इसके अलावा शरीर में हार्मोनल बदलाव के कारण भी ऐसा हो सकता है।

हर व्यक्ति को अलग समय लग सकता है
अगर आप पॉटी करते वक्त अधिक समय लेते हैं तो इसमें कोई परेशानी वाली बात नहीं क्योंकि हर व्यक्ति को पॉटी करते वक्त अलग-अलग समय लग सकता है। कोई व्यक्ति केवल पांच मिनट लेता है तो कोई 15 मिनट। यह आपके कोलन पर निर्भर करता है। यह जितने समय में खाली हो जाता है उतना ही समय आपको लगता है। [ये भी पढ़ें: कान में क्यों खुजली होती है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "