नवरात्र स्पेशल: व्रत में सेंधा नमक का सेवन क्यों फायदेमंद है

Read in English
navratri special: sendha-namak-more-beneficial-than-common-salt-during-fasting

Pic Credit: plus.google.com / whatsuplife.in

नवरात्रि के पावन दिनों में अधिकतर लोग व्रत करते हैं। इन दिनों में व्रत के दौरान शुद्ध भोजन का ही सेवन किया जाता हैं। आप सभी जानते हैं कि व्रत के लिए पकाएं जाने वाले व्यंजनों में हम सादे नमक का नहीं बल्कि सेंधा नमक का इस्तेमाल करते हैं। कभी आपने सोचा है क्यों। इसके पीछे कोई पारंपरिक या धार्मिक कारण नहीं है। असल में इसके पीछे का कारण सेंधा नमक के स्वास्थ्य लाभों से जुड़ा है। सेंधा नमक पोषण के नजरिए से सादे नमक से बेहतर होता है। शुद्ध होने के कारण भी व्रत के दौरान सेंधा नमक खाया जाता है। व्रत के दौरान शरीर को अधिक पोषण की जरुरत होती है। ऐसे में सेंधा नमक का इस्तेमाल बेहतर होता है। आइए जानते हैं सेंधा नमक और सादे नमक में से किसका इस्तेमाल बेहतर है। [ये भी पढ़ें: गरम और ठंडे पानी से नहाने के फायदे]

सेंधा नमक सादे नमक से क्यों बेहतर है:

rock salt or table salt which one is better
Pic Credit: plus.google.com

सादा नमक का उत्पादन कई केमिकल प्रोसेस से गुजरने के बाद होता है। सादा नमक बनाते वक्त इसको रिफाइन किया जाता है ताकि इससे गंदगी और मैल को निकाला जा सके और यह साफ दिखें। रिफाइन करते वक्त इसमें कई तरह के एडिटिव्स मिलाएं जाते हैं, जिससे इसका प्राकृतिक रुप बदल जाता है और इसमें मौजूद कैल्शियम, पोटेशियम आदि मिनरल कम हो जाते हैं।

जबकि सेंधा नमक अपने शुद्ध रुप में होता है और इसे केमिकल प्रोसेस से नहीं गुजरना होता। इसमें सोडियम की मात्रा सादे नमक से कम होती है इसलिए यह हाइपरटेंशन की समस्या को नहीं बढ़ाता। हालांकि इसका सेवन भी नियंत्रित मात्रा में ही उचित होता है। [ये भी पढ़ें: एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर खाद्य पदार्थों को करें आहार में शामिल]

सेंधा नमक के फायदे:

  • सेंधा नमक में सादे नमक की तुलना में अादि मिनरल पाएं जाते हैं। सेंधा नमक में 94 ट्रेस मिनरल होते हैं।
  • इसमें मौजूद मिनरल्स की मात्रा के कारण यह पाचन क्रिया में सुधार करता है और व्रत के दौरान आपको पाचन से जुड़ी समस्याएं नहीं होती। इसके अलावा यह गैस और जलन की समस्याओं को भी रोकता है।
  • सेंधा नमक मिनरल्स का सेलुलर एब्सोर्प्शन बढ़ाता है जिससे यह शरीर में इलेक्ट्रोसाइट्स और पीएच संतुलन को बनाएं रखता है।
  • सेंधा नमक में मौजूद पोटेशियम की मात्रा रक्त संचार को नियमित रखती है और उच्च रक्तदाब की समस्या नहीं होती है।
  • सेंधा नमक का इस्तेमाल कई तरह की समस्याओं को ठीक करने के लिए घरेलू उपचारों में किया जाता है। [ये भी पढ़ें: पानी पीने के लिए प्लास्टिक बोतल का इस्तेमाल गलत क्यों हैं, जानें इसके साइड इफेक्ट्स]

Article Reference: Investigation of common Indian edible salts

Tags: navratri special in hindi
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "