माइग्रेन के दर्द को कम करने के प्राकृतिक उपाय

Natural ways to reduce migraine symptoms

माइग्रेन का दर्द सिर के अलग-अलग हिस्सों को प्रभावित करता है।

माइग्रेन सिर्फ सिरदर्द नहीं है। माइग्रेन की समस्या सिरदर्द से कई ज्यादा बड़ी होती है। इस दौरान तेज दर्द, जी मिचलाना, रोशनी के प्रति संवेदनशीलता महसूस करना और ज्यादा शोर से चिड़चिड़ाहट होना आदि भी माइग्रेन के लक्ष्ण होते हैं। जब भी आपको माइग्रेन की समस्या होती है तो आप दवा खा कर इसके कारण होने वाली परेशानियों को कम करने की कोशिश करते हैं। लेकिन माइग्रेन की दर्द को कम करने के लिए आप कुछ प्राकृतिक उपायों का सहारा ले सकते हैं। आइए जानते हैं माइग्रेन के दर्द को कम करने के लिए प्राकृतिक उपायों के बारे में। [ये भी पढ़ें: गर्मियों में स्वास्थ्य से जुड़े मिथक जिन पर विश्वास ना करें]

माइग्रेन की दर्द को कम करने के प्राकृतिक उपाय

  • मैग्नीशियम को अपनी डाइट में शामिल करें
  • मालिश करना
  • अदरक का सेवन करें
  • पिपरमेंट ऑयल का उपयोग
  • एक्यूप्रेशर करें

1.मैग्नीशियम को अपनी डाइट में शामिल करें- माइग्रेन के कारण सिरदर्द होने का एक मुख्य कारण मैग्नीशियम की कमी भी होती है। इसलिए मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थ बादाम, तिल के बीज, सूरजमुखी के बीज, ब्राजील नट, काजू, पीनट बटर, अंडा, दूध आदि को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। यह माइग्रेन के दर्द को कम करने के लिए उपयोगी होता है।

2. मालिश करना- माइग्रेन के लक्षणों और दर्द को कम करने के लिए आप मालिश भी कर सकते हैं। मालिश करने ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता और तनाव और एंग्जायटी कम हो जाते है साथ ही कोलेस्ट्रोल को स्तर भी कम हो जाता है जिससे माइग्रेन का दर्द भी कम हो जाता है। एक अध्ययन एक अनुसार माइग्रेन के दर्द को कम करने के लिए मालिश करना लाभकारी होता है। सुबह नारियल पानी के साथ शहद मिलाकर पीने के क्या लाभ हैं, जानने के लिए क्लिक करें।

3. अदरक का सेवन-

Natural ways to reduce migraine symptoms
माइग्रेन के दर्द को दूर करने के लिए अदरक का सेवन करना चाहिए

अदरक माइग्रेन और जी-मिचलाने जैसी समस्याओं से राहत देने के लिए लाभकारी होती है। अदरक पाउडर माइग्रेन की तीव्रता को कम करता है साथ ही इसके सेवन के कोई दुष्प्रभाव नहीं होते इसलिए अदरक का सेवन लाभकारी होता है।

4. पिपरमेंट ऑयल- पिपरमेंट ऑयल में मौजूद मिन्थॉल माइग्रेन के दर्द को कम करने के लिए उपयोगी होता है। एक अध्ययन के अनुसार माथे और कनपट्टी पर पिपरमेंट ऑयल लगाने से सिरदर्द, जी मिचलाने और रोशनी से संवेदनशीलता जैसी परेशानियों से निजात मिलती है।

5. एक्यूप्रेशर- एक्यूप्रेशर से माइग्रेन का दर्द कम करने के लिए हाथों और उंगलियों के विशेष बिंदुओं पर दबाव डालना पड़ता है। एक अध्ययन के अनुसार एक्यूप्रेशर एक ऐसी थैरेपी है जो कि तेज सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या को कम करने के लिए लाभकारी होती है। [ये भी पढ़ें: जीभ को साफ करने के लिए टिप्स]

इन आसान उपायों की मदद से आप माइग्रेन के दौरान होने वाली समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "