नेचुरल एंटी-बायोटिक्स जिन्हें आप किचन से भी प्राप्त कर सकते हैं

Read in English
Natural Antibiotics you will find in your kitchen

Natural Antibiotics: घर पर ही इस्तेमाल किए जाने वाले खाद्य पदार्थों में भी एंटी-बायोटिक गुण पाए जाते हैं

Natural Antibiotics: एंटी-बायोटिक्स सूक्ष्मजीवों से शरीर की रक्षा करती है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देते हैं। एंटी-बायोटिक दवाएं रोग से बचाती हैं,शरीर को स्वस्थ रखने में मदद तो करती है लेकिन इनके दुष्प्रभाव भी शरीर पर होते हैं। बहुत सारे प्राकृतिक पदार्थ और रसोई घरों में पाए जाने वाले मसाले नेचुरल एंटी-बायोटिक्स का काम करते हैं साथ ही उनके कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होते हैं। आइए जानते हैं कि कुछ नेचुरल एंटी-बायोटिक्स के बारे में जिन्हें आप किचन से भी प्राप्त कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: इन सेहतमंद फायदों के लिये करें हल्दी का सेवन]

Natural Antibiotics: निम्न एंटी-बायोटिक्स को आप किचन से प्राप्त कर सकते हैं

  • लहसुन
  • दालचीनी
  • शहद
  • अदरक
  • पत्तागोभी

1.लहसुन- कच्चे लहसुन में एलिसिन होता है जो कि शरीर के लिए काफी लाभकारी होता है। लहसुन में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेंट्री, एंटी-फंगल, एंटी-वायरल गुण होने के साथ-साथ पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं इसलिए लहसुन एक प्राकृतिक एंटी-बायोटिक्स का काम करता है और सूक्ष्मजीवों से शरीर की रक्षा करता है।[ये भी पढ़ें: लहसुन है स्वास्थ्यवर्धक गुणों से भरपूर]

2.दालचीनी-

Natural antibiotics you can also get from the kitchen
Natural antibiotics: दालचीनी का उपयोग एंटी-बायोटिक के रुप में कर सकते हैं

दालचीनी खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए मुख्य मसाले की तरह उपयोग की है। दालचीनी में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए लाभकारी होते हैं इसलिए दालचीनी का सेवन एंटी-बायोटिक्स के रुप में किया जा सकता है।[ये भी पढ़ें: इन फायदों को जानकर आप रोज खाएंगे दालचीनी]

3.शहद- शहद को सबसे पुराना एंटी-बायोटिक माना जाता है। शहद में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं जो कि शरीर की सूक्ष्मजीवों के आक्रमण से रक्षा करते हैं।

4.अदरक-

Best natural antibiotics you will find in your kitchen
natural antibiotics: अदरक का सेवन शरीर को रोगों से बचाता है

अदरक में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं इसलिए यह एक अच्छे एंटी-बायोटिक का काम करता है। अदरक का इस्तेमाल करने से फ्लू, ठंड लगना, जी-मिचलाने और जोड़ों में दर्द जैसी समस्या नहीं होती है।[ये भी पढ़ें: अदरक के वो फायदे जिनके बारे में शायद आप नहीं जानते होंगे]

5.पत्तागोभी- पत्तागोभी में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी होता है जो कि एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट होता है। पत्तागोभी को खाने या इसका जूस पीने से बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है और शरीर स्वस्थ बनता है।
[ये भी जरुर पढ़ें: स्वास्थ्य के लिए कई तरह से लाभदायक है लौंग]

ये सभी पदार्थ आसानी से किचन में मिल जाते हैं और शरीर को संक्रमण से बचाने में मदद करते हैं। इस आर्टिकल को इंग्लिश(English) में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "