आपका आहार कैसे शरीर की गंध को प्रभावित करता है

Read in English
how your diet affect your body odor

शरीर की गंध के बारे में बहुत बार बहुत सी बातें की जाती है। अगर किसी व्यक्ति के शरीर से लगातार दुर्गंध आ रही है तो इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे अधिक पसीना आना, जेनेटिक, कोई स्वास्थ्य समस्या या पर्सनल हाइजीन। इसके अलावा आपका आहार भी आपके शरीर की गंध को प्रभावित करता है। यह प्रभाव नकारात्मक या सकारात्मक दोनों तरह से हो सकता है। आप जो भी खाते हैं उसके अनुसार आपका शरीर महकता है। अगर आपकी हाइजीन की आदतें अच्छी हैं और फिर भी आपके शरीर से दुर्गंध आ रही है तो इसके लिए अपनी डाइट को जिम्मेदार ठहराएं। आइए जानते हैं कि किस तरह से आपका आहार आपके शरीर की गंध को प्रभावित करता है। [ये भी पढ़ें: एप्पल साइडर वेनेगर के हानिकारक दुष्प्रभाव]

सल्फर युक्त खाद्य पदार्थ
जिन पौधों या खाद्य पदार्थों में सल्फर होता है उनका सेवन आपके शरीर की गंध को नकारात्मक तरीके से प्रभावित करता है। सल्फर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे लहसुन, प्याज, ब्रोकली, बंदगोभी आदि के सेवन से आपके शरीर की सामान्य गंध बदल सकती है। इसीलिए लहसुन खाने के बाद आपका शरीर इसकी गंध की तरह महकता है।

मसालें और हर्ब
अधिक मसाले या हर्ब युक्त खाद्य पदार्थ भी आपके शरीर की गंध को दुर्गंध में बदलने का कारण हो सकते हैं। मसाले वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से शरीर का तापमान बढ़ जाता है जिससे पसीना अधिक आता है और अधिक पसीना शरीर की दुर्गंध का कारण बनता है। [ये भी पढ़ें: आसान आदतें जो आपको स्वस्थ बनाएं रखने में मदद करती है]

एल्कोहल
एल्कोहल का सेवन करने के बाद हमारा लिवर इसे मेटाबॉलाइज करता है और एल्कोहल को एसिटिक एसिड में बदल देता है। इसका कुछ हिस्सा आपके पसीने और रेस्पाइरेटरी सिस्टम के जरिए बाहर निकल जाता है जिससे आपके मुंह के साथ आपके शरीर से भी एल्कोहल की गंध आती है।

मीट
अगर आप अपने आहार में मीट को शामिल करते हैं तो यह आपकी आपके शरीर की दुर्गंध का एक कारण हो सकता है। जो लोग शाकाहारी आहार का सेवन करते हैं उनके शरीर की गंध अपेक्षाकृत अच्छी होती है। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि कितनी मात्रा में मीट का सेवन आपके शरीर की गंध को नकारात्मक तरीके से प्रभावित करता है।

फलों और सब्जियों का सेवन शरीर को अच्छी महक देता है
अगर आप उन फलों और सब्जियों का सेवन अधिक करते हैं जिनमें कैरोटेनोइड्स मौजूद होता है तो यह आपके शरीर की गंध को सकारात्मक तरीके से प्रभावित करते हैं। टमाटर, गाजर, हरी पत्ते वाली सब्जियां, शकरकंद आदि में कैरोटेनोइड्स पाया जाता है। [ये भी पढ़ें: खोया के सेवन से होने वाले फायदे]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "