अत्यधिक समय तक टीवी देखने से आपकी सेहत होती है प्रभावित

टेलिविजन का अविष्कार जब हुआ था तो शायद यह उस समय के सबसे बेहतरीन अविष्कारों में से एक था क्योंकि इसकी मदद से आप घर बैठे किसी भी स्थान का समाचार देख सकते थे, सुन सकते थे। इसकी मदद से लोगों का मनोरंजन होता है। हालांकि हर अच्छी चीज एक कीमत के साथ आती है और टीवी के साथ भी यह बात लागू होती है। टेलिविजन के आने से अगर कई फायदे हुए हैं तो इसके अपने नुकसान भी है। टेलिविजन को हमने अपनी जीवनशैली में इस तरह से शामिल कर लिया है कि अब यह हमारी सेहत पर हावी हो रहा है। आप जान भी नहीं पाते हैं और यह आपकी सेहत को दिनोदिन प्रभावित कर रहा है। अगर आप भी उन लोगों में से हैं जो घंटों टीवी के सामने गुजार देते हैं तो सावधान हो जाए क्योंकि इससे आपका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। [ये भी पढ़ें: पोषक तत्वों से भरपूर सब्जियां जिनका सेवन आपको जरुर करना चाहिए]

वजन बढ़ता है:
how watching tv for too long affect your healthक्या आपके कपड़ें आपको अधिक टाइट हो गए हैं और आप सोच रहे हैं कि एक्सरसाइज के बाद भी आपका वजन क्यों बढ़ रहा है तो घंटों तक टीवी देखने की आपकी आदत इसके पीछे का कारण हो सकती है। जब आप एक ही जगह बैठकर टीवी देख रहे हैं होते हैं तो आपका शरीर कम गतिविधि करता है जिससे शरीर में फैट जमा होने लगता है।

डायबिटीज का खतरा बढ़ता है:
how watching tv for too long affect your healthअधिक समय तक टीवी देखने से आपको डायबिटीज होने का खतरा अधिक हो जाता है क्योंकि टीवी देखते वक्त आप एक ही स्थान पर अधिक देर तक बैठे होते हैं और शरीर की मोबिलिटी कम हो जाती है। [ये भी पढ़ें: हाइजीन संबंधी गलतियां जिनको करने से बचना चाहिए]

स्पर्म की क्वालिटी घटती है:
how watching tv for too long affect your healthटीवी देखने से आपकी फर्टिलिटी भी प्रभावित हो सकती है साथ ही आपके स्पर्म की क्वालिटी भी घट जाती है। अगर आप एक सप्ताह में करीब 20 घंटे से ज्यादा टीवी देखते हैं तो आपका स्पर्म काउंट उन लोगों की तुलना में 44 प्रतिशत तक कम होता है जो टीवी नहीं देखते हैं।

आक्रमक व्यवहार को बढ़ाता है: अगर आप या आपके बच्चों को अधिक समय तक टीवी देखने की आदत है तो बेहतर है कि आप इस आदत को सीमित करें क्योंकि अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपके बच्चे का व्यवहार आक्रमक होने की संभावनाएं बढ़ सकती हैं। अधिक समय तक लगातार टीवी देखने से बच्चे मीडिया में जो देखते और सीखते हैं उसका असर उनके व्यवहार पर भी दिखता है। [ये भी पढ़ें: कॉन्टेक्ट लेंस से जुड़ी गलतियां आपकी आँखों को पहुंचाती हैं नुकसान]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "