सोते समय होने वाली समस्याओं को ठीक करने में मददगार है विज्ञान

how to solve your sleep problems with science

स्वस्थ रहने के लिए नींद पूरी लेना बहुत जरुरी होता है। नींद पूरी होने पर आपको पूरे दिन बेहतर महसूस होता है और आपको काम करने में दिक्कत भी नहीं होती है। रात को 7-8 घंटे की नींद लेना जरुरी होता है। लेकिन कई लोगों को सोते समय कई दिक्कतें होती हैं जिसकी वजह से वह उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती है। जिसकी वजह से कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होने की संभावना बढ़ जाती है। नींद ना पूरी होने के पीछे का कारण कमर दर्द, गर्दन दर्द जैसी समस्याएं हो सकती है। इन समस्याओं को विज्ञान की मदद से ठीक किया जा सकता है। तो आइए आपको सोते समय होने वाली परेशानियों को कैसे दूर किया जाए उसके बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: अपनी लसीका प्रणाली में जमा तरल पदार्थों को कैसे साफ करें]

नींद नहीं आना: बहुत से लोग अनिद्रा के शिकार होते हैं। जिसकी वजह से नींद आने में समस्या, सोने के बाद जल्दी उठनें में दिक्कत होती है। अनिद्रा की वजह से ब्लड प्रेशर, हार्ट डिजीज जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं। इसे दूर करने के लिए आप एक्यूपंचर, मेडिटेशन का सहारा ले सकते हैं। इसे दूर करने के लिए सोने से पहले एल्कोहल का सेवन करना बंद कर दें। क्योंकि एल्कोहल के सेवन से आप गहरी नींद नहीं ले पाते हैं।

सुबह उठ नहीं पाना: अगर आपको सुबह उठने में दिक्कत होती है तो रोजाना एक ही समय पर उठने की कोशिश करें। फिर चाहे वह आपकी छुट्टी हो या ऑफिस जाने का समय। ऐसा करने से आपको रोज एक ही समय पर उठने की आदत पड़ जाती है। जिससे दिक्कत कम हो जाती है। [ये भी पढ़ें: आपके शरीर की बदबू भी करती हैं कई स्वास्थ्य समस्याओं की तरफ इशारा]

खर्राटे: सोते समय आप या आपका पार्टनर कोई भी खर्राटे लेते हैं तो इससे दूसरे की नींद प्रभावित होती है। इसके लिए एक तरफ होकर सोने की कोशिश करें। या अपने सिर को थोड़ा सा ऊपर करके सोएं। इसके अलावा आप सोने से पहले अपनी साइनस को साफ कर सकते हैं। इससे खर्राटे की समस्या नहीं होती है। इसके साथ ही सोने से पहले एल्कोहल का सेवन करने से बचें।

कंधे में दर्द: रात को नींद पूरी ना होने के पीछे का कारण कंधे में दर्द हो सकता है। इस दर्द से बचने के लिए एक तरफ होकर ना सोएं। और जिस कंधे में दर्द होता हो उस तरफ होकर ना सोएं। इसके साथ ही आप सीधे होकर तकिये को पकड़ कर सो सकते हैं।

एसिड रिफ्लक्स: एसिड रिफ्लक्स की वजह से छाती और गले में जलन होने लगती है। जिसकी वजह से सोने में दिक्कत होती है। इस समस्या को दूर करने के लिए आप डॉक्टर से बात करें। आप इसके लिए दवाइयों का सेवन कर सकते हैं। इसके साथ ही बायीं तरफ आकर सोएं और ऊंचे तकिये का इस्तेमाल करें। [ये भी पढ़ें: ऑटोइम्यून डिजीज से लड़ने के लिए लाभकारी खाद्य पदार्थ]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "