हानिकारक बैक्टीरिया से अपनी आंखों को कैसे बचाएं

How to Protect Your Eyes from Harmful Bacteria

हमारी आंखों में अक्सर कई तरह की परेशानियां हो जाती है जैसे कि आंखों में सूखापन, खुजली, आंखों में जलन होना और पानी आना। दिन भर लैपटॉप पर काम करने से भी आपकी आंखें खराब हो सकती है और साथ ही आपके पूरी साफ-सफाई ना रखने के कारण आंखों में बैक्टीरिया जाने का खतरा पैदा हो जाता है जिससे आंखों में इंफेक्शन हो सकता है। इन बैक्टीरिया के आंखों में जाने के पीछे आप भी जिम्मेदार होते हैं क्योंकि आप ऐसे कई काम करते हैं जिनसे बैक्टीरिया आपकी आँखों में जाते हैं। अगर आप सावधानी बरतते हैं तो इनसे बचा जा सकता है। आइए जानते हैं कि किन-किन कारणों से आपकी आंखें बैक्टीरिया संक्रमण का शिकार हो सकती हैं और कैसे आप अपनी आंखों की रक्षा कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: पैरों की मसाज करना स्वास्थ्य के लिए होता है लाभकारी]

1. आंखों को गंदे हाथों से रगड़ें नहीं: आंखे रगड़ने से आंखों के कॉर्निया को क्षति पहुंचती है जो आंखों के लिए लंबे समय तक हानिकारक हो सकता है। आप हाथों से कई चीजों को छूते हैं जिससे आपके हाथों पर मौजूद बैक्टीरिया आंखों को रगड़ने के दौरान हाथ से आंखों में चले जाते हैं। इसलिए कोशिश करें कि ाप आंखों को रगड़ें नहीं, अगर खुजली होती है तो टिशू का इस्तेमाल करें।

2. लैंस का सावधानी से प्रयोग करें: आजकल लोग ग्लासेस की बजाय लैंस पहनना ज्यादा पसंद करते हैं लेकिन गंदें हाथों से लैंस को छूने पर आंखों में हानिकारक बैक्टीरिया लैंस के माध्यम से प्रवेश कर जाते हैं इसलिए कोशिश करें की जब भी लैंस लगाएं हमेशा आपके हाथ स्वच्छ हो।

3. अच्छी क्वालिटी के सन-ग्लासेस का करें प्रयोग: धूप का लगातार संपर्क आपकी आंखों के लिए हानिकारक हो सकता है। सूरज की किरणों से आने वाली हानिकारक यूवी किरणें आपकी आंखों के लिए हानिकारक हो सकती है इसलिए आप अच्छे सनग्लासेस का प्रयोग करें जो आपकी आंखों को पूरी तरह कवर कर लें और आपकी आंखों की रक्षा हो पाएं।[ये भी पढ़ें: दूध में लहसुन मिलाकर सेवन करने से क्या स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं]

4. सेफ्टी ग्लासेस पहनें: आंखों को चोट लगने से बचाने के लिए सेफ्टी ग्लासेस जरुर पहनें। बहुत बार हम ऐसे काम करते हैं जिससे आंखों को चोट लगने का खतरा होता है। साथ ही साफ-सफाई करते समय आंखों में गंदगी और धूल-मिट्टी के जाने से भी बैक्टीरिया संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए ऐसा कोई भी काम करते समय या कोई भी खेल खेलते समय सेफ्टी ग्लासेस जरुर पहनें।

5. आई ड्रॉप डालें: आंखों में चाहे जितनी भी खुजली हो कोशिश करें कि आप अपनी आंखों को ना रगड़ें। आंखों को रगड़ने से बचें और अपनी आंखों की खुजली कम करने के लिए आई ड्रॉप का इस्तेमाल करें। इससे आपकी आंखें ड्राइ नहीं होती और आंखों की गंदगी भी निकल जाती है।

6. किसी और के चश्मों का प्रयोग करते समय सावधानी बरतें: आंखों में संक्रमण होने के दौरान लोग ग्लासेस का इस्तेमाल आंखों की रक्षा के लिए करते हैं। लेकिन इन ग्लासेस का फिर से प्रयोग करना आंखों के लिए हानिकारक हो सकता है इससे आपकी आंखों में बैक्टीरिया संक्रमण का खतरा बहुत अधिक बढ़ जाता है, इसलिए किसी अन्य व्यक्ति के ग्लासेस पहनने से बचें। [ये भी पढ़ें: लक्षणों जो बताते हैं आपमें कैल्शियम की कमी है]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "