ब्लड क्लॉट बनने से कैसे रोकें

Read in English
how to prevent blood clots

चोट लगने के बाद खून को बहने से रोकने के लिए ब्लड क्लॉट बनना जरुरी होता है। साथ ही यह घाव में कीटाणु जाने से रोकथाम करते हैं। लेकिन आपने देखा होगा कभी-कभी बिना चोट लगे भी ब्लड क्लॉट बनने लगते हैं। इस तरह से ब्लड क्लॉट बनना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं। साथ ही कई समस्याओं की तरफ इशारा भी करते हैं। ब्लड क्लॉट धमनियों के डैमेज होने, लंबे समय तक बैठे रहने, एक्सरसाइज ना करना, हाई ब्लड प्रेशर जैसे कई कारणों की वजह से हो जाते हैं। ब्लट क्लॉट की वजह से ब्लड सर्कुलेशन सही तरह से नहीं हो पाता है। अगर शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं और ब्लड क्लॉट बनने से रोकना चाहते हैं कुछ स्वस्थ आदतें डालना जरुरी होता है। तो आइए आपको उन चीजों के बारे में बताते हैं जो ब्लड क्लॉट बनने से रोकते हैं। [ये भी पढ़ें: कौन से खाद्य पदार्थों को कच्चा और पकाकर खाना चाहिए]

ओमेगा-3 फैटी एसिड के स्त्रोत: ब्लड क्लॉट को नियमित करने के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड महत्वपूर्ण पोषक तत्व होता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड डिप्रेशन, थकान, आंखों के स्वास्थ्य में सुधार, हृदय संबंधी समस्याओं और स्ट्रोक के खतरे को कम करता है। फैटी फिश, केल, पालक, फ्लैक्स सीड आदि ओमेगा-3 फैटी एसिड के स्त्रोत है।

डाइट में बदलाव करें: डाइट में बदलाव करना ब्लड क्लॉट बनने से रोकने का प्राकृतिक उपाय है। स्वस्थ वजन, कोलेस्ट्रॉल को कम करने, ब्लड प्रेशर लेवल और इंफ्लेमेशन को कम करने में मदद करता है। हरी पत्तियों वाली सब्जी, फल, साबुत अनाज और ओमेगा-3 फैटी एसिड के स्त्रोतों का सेवन करें। [ये भी पढ़ें: हर समय सिर घूमने के पीछे क्या कारण हो सकते हैं]

धूम्रपान छोड़ दें: धूम्रपान करने से ब्लड क्लॉट बनने का खतरा बढ़ जाता है। अत्यधिक धूम्रपान आपके तंत्रिका तंत्र, पाचन, कार्डियोवास्कुलर सिस्टम पर पर नकारात्मक प्रभाव डालता है।

एक्टिव रहें: शरीर में ब्लड क्लॉट बनने से रोकने के लिए स्वस्थ और सक्रिय रहना महत्वपूर्ण होता है। एक्सरसाइज करके लंबे समय तक असक्रिय रहने से बचा जा सकता है। एक्टिव रहने के लिए दिन में 30 मिनट तक एक्सरसाइज करनी चाहिए। आप वॉक या जॉगिंग भी कर सकते हैं।

सैलिसिलेट: सैलिसिलेट एसिड खून को पतला बनाने में मदद करता है। यह ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर प्राकृतिक रुप से खून को पतला बनाता है। सेब का सिरका, दालचीनी, अदरक आदि खून को पतला करने में मदद करते हैं जिससे ब्लड क्लॉट नहीं बन पाते हैं। [ये भी पढ़ें: पोटेशियम की कमी पूरी करने के लिए खाद्य पदार्थ]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "