होली 2018: सुरक्षित तरीके से होली खेलने के लिए टिप्स

Read in English
how to play safe and healthy holi this year

होली को रंगों के त्योहार के रुप में जाना जाता है। अपने जीवन में नए रंग भरने और पुराने रंगों को ताजा करने के लिए यह त्योहार एक बेहतरीन मौका होता है। होली हमारी संस्कृति का सबसे अधिक जोश और खुशियों से भरा उत्सव होता है। होली खेलना सभी को पसंद होता है और आप इस दिन सभी नियम भूल जाते हैं और पूरे मन से होली खेलते हैं जो कि सही भी है क्योंकि यह त्योहार इतना प्यारा है कि आप इससे खुद को बचा ही नहीं सकते हैं। हालांकि इस दिन आपको उत्साह और मस्ती के साथ-साथ अपनी सेहत के बारे में भी सोचना चाहिए। आज कल लोग होली पर गुलाल की बजाय पक्के रंगों का इस्तेमाल अधिक करते हैं जो आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं क्योंकि इनमें केमिकल काफी अधिक मात्रा में पाएं जाते हैं। इसलिए जरुरी है कि आप इस होली पर पर्व का आनंद लेने के साथ अपनी सेहत का भी ख्याल रखें। तो आइए जानते हैं कि इस साल होली को सुरक्षित कैसे बनाएं। [ये भी पढ़ें: होली पर रंगों के प्रभाव से बालों को कैसे बचाएं]

सुरक्षित तरीके से होली खेलने के लिए टिप्स:

  • होलिका दहन वाले दिन हम होलिका या अलाव जलाते हैं। इस दौरान बच्चों और खुद को होलिका से एक सीमित दूरी पर रखें। इससे आप किसी भी तरह की दुर्घटना की संभावनाओं को कम कर देंगे।
  • अगले दिन आप रंग खेलने के लिए तैयार होंगे। रंग खेलने से पहले शरीर के हर हिस्से खासकर त्वचा और बालों पर तेल या मॉइश्चराइज़र लगाएं। इससे आपकी त्वचा पर एक सुरक्षित परत बन जाएगी जिससे आपकी त्वचा पर रंगों का बुरा असर नहीं होगा। इसके लिए आप नारियल तेल या ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: होली 2018: रंग खेलने के बाद त्वचा की देखभाल कैसे करें]
  • रंग खेलते वक्त फ़टे-पुराने कपड़े ना पहनें, खासतौर पर डेनिम्स। वो कपड़े पहने जिनसे आपका अधिकतर शरीर ढक जाएं। रंग खेलने के तुरंत बाद कपड़े बदल दें।
  • हमेशा हर्बल रंगों का इस्तेमाल करें। हर्ब रंग फूलों और पत्तियों से बनाएं जाते हैं। इनका आपकी त्वचा या सेहत पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता। इन्हें आप घर पर भी बना सकते हैं।
  • रंग बनाने के लिए हल्दी, गेंदा फूल और अन्य हर्बल चीजों का इस्तेमाल करें। अधिक चटकीले रंगों का इस्तेमाल ना करें क्योंकि इनमें अधिक केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है।
  • रंग खेलते वक्त आँखों पर सनग्लासेस पहनें। अगर आप कॉन्टेक्ट लेंस का उपयोग करते हैं तो रंग खेलते वक्त इन्हें निकाल दें। आँख में रंग चले जाने पर आँखों को पानी से अच्छे से साफ करें।
  • जब भी आपके चेहरे पर कोई रंग लगाएं तो अपनी आँखों और होंठों को अच्छी तरह से बंद कर लें। ऐसा करने से आपकी आँखें और होंठ रंगों के संपर्क में नहीं आएंगे।
  • नाखूनों पर नेल पॉलिश या ट्रांसपेरेंट नेल पॉलिश के कई कोट लगाएं ताकि आपके नाखून रंग से बच जाएं।
  • बालों को सुरक्षित रखने के लिए रंग खेलते वक्त सिर को कैप, हैट या शावर कैप से ढक लें।
  • होली के दिन अगर आप बाहर है और ड्राइव कर रहे हैं तो कार के शीशे बंद रखें।
  • गीले फर्श पर डांस या चलना इत्यादि ना करें।
  • अगर आपको रंगों से एलर्जी है या किसी तरह की स्किन एलर्जी है तो रंग ना खेलें।
  • होली के दौरान मिलावटी मावा और मिठाईयां बाजार में अधिकतर मिलती हैं। मिठाई या अन्य पकवान बनाने के लिए बाहर से खोया खरीद रहे हैं तो इन्हें इस्तेमाल से पहले इसकी शुद्धता चेक कर लें। कोशिश करें कि आप पकवान घर पर ही बनाएं।
  • खाने की किसी भी वस्तु को छूने से पहले अपने हाथ धोएं। खाते वक्त रंग खेलने वाली जगह से दूर रहें। अधिक जंक या फास्ट फूड का सेवन ना करें।
  • रंग को निकालने के लिए केमिकल वॉश या साबुन का इस्तेमाल ना करें।
  • रंग निकालने के बाद अच्छे और हाइड्रेटिंग माइश्चचराइज़र का उपयोग करें। [ये भी पढ़ें: होली 2018: आंखों की देखभाल के लिए टिप्स]
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "