सिरदर्द को दूर करने के लिए एक्यूप्रेशर तकनीक कैसे इस्तेमाल करें

how to get rid of headache with the help of acupressure

तनावग्रस्त जिंदगी, चिंता और व्यस्त दिनचर्या की वजह से सिर दर्द की समस्या बहुत आम बात हो गई है। सिर दर्द की वजह से बहुत से लोग दवाइयों का सहारा लेते हैं। लेकिन हमेशा दवाइयों का इस्तेमाल करना आपके शरीर को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। दरअसल रक्त वाहिकाओं पर तनाव पड़ने की वजह से सिरदर्द या माइग्रेन की समस्या होती है। अगर आप दवाइयों का सेवन नहीं करना चाहते हैं तो इसके लिए एक्यूप्रेशर तकनीक काफी फायदेमंद होती है। हालांकि किसी भी गंभीर स्थिति में अपने डॉक्टर की सलाह लेना जरुरी है। [ये भी पढ़ें: कमर के निचले हिस्से में होने वाले दर्द का क्या कारण है]

एक्यूप्रेशर क्या है:  एक्यूप्रेशर एक तकनीक जिसके जरिए शरीर के कुछ विभिन्न बिंदुओं पर दबाव डालकर रोग का निदान किया जाता है। एक्यूप्रेशर तकनीक को इस्तेमाल करने का एक सही तरीका होता है। किसी समस्या से छुटकारा पाने के लिए शरीर के एक विशेष बिन्दु पर उचित दबाव डालना होता है। इन बिन्दुओं से कई रक्त वाहिकाएं गुजरती हैं, जिन पर दबाव डालने से किसी खास अंग पर प्रभाव पड़ता है। तो आइए जानते हैं सिरदर्द की समस्या से निजात पाने के लिए एक्यूप्रेशर तकनीक को कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

1.गर्दन:
how to get rid of headache with the help of acupressure
गर्दन पर दो एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स मौजूद होते हैं जिनकी मदद से हम सिर दर्द को कम कर सकते हैं।

  • विंड पूल: यह बिंदु गर्दन के पीछे होता है, जहां आप गले में माला पहनते हैं। यहां पर गर्दन की दो हड्डियां और सिर का जोड़ एक साथ होता है। इस बिंदु पर हल्के हाथ से मसाज करें और अंगूठे की सहायता से थोड़ा दबाव डालें। ऐसा करने से आपको बंद नाक, आंखों के दर्द, कानों, गले और सिरदर्द की समस्या से निजात मिलती है। [ये भी पढ़ें: दिन में कितने कप ग्रीन टी का सेवन होता है उचित]
  • हेवन पिलर: यह शारीरिक बिंदु विंड पूल बिंदु से दो अंगुली नीचे होता है। यह रीढ़ की हड्डी पर स्थित होता है और आप इसे छूकर महसूस कर सकते हैं। हल्के हाथ से मसाज करें और थोड़ा दबाव डालें। इस तरीके से आपको गर्दन, तनाव, सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या से निजात मिलेगी।

2. कंधों: कंधों पर स्थिति यह बिंदु कंधों के बीच होता है, जहां आपकी गर्दन कंधे से मिलती है। इस जगह को अंगूठे से दबाने पर गर्दन और कंधों की अकडन और सिरदर्द, माइग्रेन के दर्द से भी आराम मिलता है।

3. हाथ:
हाथों में यह बिंदु अंगूठे और तर्जनी अंगुली के बीच में स्थित होता है। इस बिंदु को दबाने से मांसपेशियों का तनाव, चिंता, सिरदर्द तथा माइग्रेन का दर्द दूर होता है।

4. पैर का तलवा: पैर के तलवे में यह बिंदु अंगूठे और उसके बराबर वाली अंगुली के मध्य होता है। इस बिंदु पर हल्का दबाव डालकर सिरदर्द, आर्थराइटिस, माइग्रेन की समस्या से निजात पाई जा सकती है। [ये भी पढ़ें: पुराने दर्द से राहत पाने के लिए ड्रग रहित उपाय]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "