फूड पॉइजनिंग से बचने के तरीके

Read in English
how to avoid food poisoning

आजकल लोगों को फूड पॉइजनिंग की समस्या होना आम हो गई है। यह समस्या होने के पीछे का कारण बैक्टीरिया और फंगस वाले फूड्स का सेवन करने से होती हैं। इसके अलावा वायरस और बैक्टीरिया के संपर्क में आने से भी फूड पॉइजनिंग की समस्या हो सकती है। इससे बचने के लिए हमेशा फ्रेश फूड का सेवन करना चाहिए। इसके साथ ही कुछ भी खाने से पहले हाथ धोना ना भूलें। क्योंकि हाथ से भी आपके शरीर में कीटाणु और बैक्टीरिया शरीर में चले जाते हैं। बैक्टीरिया के शरीर में जाने से पेट दर्द, डायरिया, बुखार जैसे लक्षण दिखने लगते हैंष यह सभी फूड पॉइजनिंग के संकेत होते हैं। तो आइए आपको बताते हैं कि किन तरीकों की मदद से पऊड पॉइजनिंग से बचा जा सकता है। [ये भी पढ़ें: लाइफस्टाइल में बदलाव करके कैसे लंबे समय से आई सूजन को कम करें]

सब्जियों को अच्छी तरह पकाएं: खाना बनाते समय हमेशा याद रखें कि सब्जियां या फल कच्चे ना रह जाएं। साथ ही वह अच्छी तरह धुले हुए होने चाहिए। सब्जियों के अच्छी तरह से पके होने की वजह से बैक्टीरिया मर जाते हैं जिसके बाद भोजन आसानी से पच जाता है।

हाथ धोएं: बहुत से कीटाणु आपके हाथों से शरीर में घुसते हैं। ऐसा खाना बनाते समय और खाते समय होता है। याद रखें कि कहीं बाहर से आने के बाद, वॉशरुम के बाद और खाना बनाने से पहले हाथ जरुर धोएं। यह फूड पॉइजनिंग के खतरे को कम करता है। [ये भी पढ़ें: अक्सर बाहर खाना खाने से शरीर को क्या नुकसान होते हैं]

खाने को ढ़ककर रखें: ध्यान रखें कि आपका भोजन कभी भी बिना ढके ना रहे। यह कीटाणु और बैक्टीरिया के पैदा होने की जगह बन सकता है इसलिए हमेशा भोजन को ढ़ककर रखें।

एक्सपायरी फूड प्रोडक्ट का सेवन ना करें: पैक्ड फूड का सेवन करने से पहले हमेशा एक्सपायरी डेट चेक करें। कभी भी एक्सपायरी डेट वाले भोजन का सेवन ना करें। फूड पाइजनिंग के खतरे को कम करने के लिए आप ताजे फल, सब्जियों, मीट का ही सेवन करें। साथ ही सीजनल फल और सब्जियों का सेवन करने की कोशिश करें।

बर्तनों को अच्छी तरह साफ करें: अगर आप एक ही बर्तन का बार-बार इस्तेमाल करते हैं तो उनमें बैक्टीरिया एकत्रित होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके लिए खाना बनाने से पहले हमेशआ बर्तन को धोएं। इसके साथ ही बर्तन को साफ करने वाले कपड़े को भी धोएं। इससे बैक्टीरिया या फंगस एकत्रित होने का खतरा कम हो जाता है। [ये भी पढ़ें: कौन सी स्वास्थ्य समस्याएं सामाजिक शर्मिंदगी का कारण बनती हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "