ब्रा को कितनी बार धोना उचित है

how often you should wash your bra

एक उच्च क्वालिटी की ब्रा सहज तो होती है इसके साथ ही महंगी भी होती है। महिलाएं अपने ड्रेसिंग स्टाइल पर बहुत ध्यान देती हैं जिसकी वजह से वह अपने कपड़ों के साथ किसी भी तरह का समझौता करना पसंद नहीं करती हैं। इस दौरान आपको इस बात का ध्यान रखना जरुरी होता है कि आप इसे कितनी बार धोती हैं और कितनी बार धोना उचित होता है। ब्रा को कैसे धोना और कितनी बार धोने में अंतर होता है। जिसकी बारे में ध्यान रखना जरुरी होता है। तो आइए आपको बताते हैं कि ब्रा को कितनी बार धोना उचित होता है। [ये भी पढ़ें: विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं के लिए कौन सी स्लीपिंग पोजीशन बेहतर हैं]

कितनी बार ब्रा धोएं: कुछ लोग कहते हैं कि ब्रा को कम धोना चाहिए ऐसा करने से यह लंबे समय तक चलती हैं। हर तीन बार ब्रा पहनने के बाद इसे धोना जरुरी होता है। ऐसा करने से इसका लचीलापन बना रहता है। लेकिन कुछ लोगों का मानना होता है कि आपको इसे एक बार पहनने के लिए बाद धोना जरुरी होता है। वैसे तो इसे एक बार पहनने के बाद धोना जरुरी होता है। क्योंकि कपड़ों की गंदगी, ऑयल त्वचा से ब्रा पर ट्रांसफर हो जाते हैं। जिसकी वजह से ब्रा का कपड़ा खराब होने लगता है। खासकर पसीने की वजह से। अगर आप रोज सुबह नहाती हैं और आपको ज्यादा पसीना भी नहीं आता है तो आप इसे बिना धोए रख सकती हैं।

ब्रा को कैसे धोएं:

सारे डिटरजेंट एक से नहीं होते हैं: सभी डिटरजेंट एक से नहीं होते हैं कुछ काफी ज्यादा केमिकल वाले होते हैं जो कपड़ों के साथ हाथों के लिए भी हानिकारक होते हैं। इसलिए ब्रा को उन डिटरजेंट से धोना चाहिए जो मुलायम कपड़ों को धोने के लिए बने हों। [ये भी पढ़ें: किस करने से आपके स्वास्थ्य को क्या फायदें होते हैं]

हाथ से धोएं: इस बात से मतलब नहीं होता है कि आप अपनी ब्रा को कितनी बार धोती हैं। लेकिन इसे धोने का सबसे अच्छा तरीका हाथ से धोना होता है। क्योंकि वॉशिंग मशीन में धोने की वजह से कपड़ा सख्त हो जाता है। जब आप कपड़े को हाथ से धोते हैं तो यह थोड़ा जटिल नहीं होता है। हाथ से धोने से कपड़े से गंदगी और ऑयल निकल जाता है।

ड्रायर का इस्तेमाल ना करें: यह बात आपको पता ही होगी लेकिन इसके बारे में जानना जरुरी होता है। ज्यादातर ब्रा डेलिकेट फेब्रिक की बनी हुई होती है। जो हीट होने पर अपने लचीलेपन को खो देती हैं। इसलिए बेहतर होगा कि ड्रायर का इस्तेमाल ना करें। [ये भी पढ़ें: प्रदूषण मुक्त वायु के लिए उपयोगी प्राकृतिक एयर प्यूरिफायर]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "